अभिनय के लिहाज से फिल्म ‘नीरजा’ सोनम की अब तक बेस्ट फिल्म है। फिल्म की कहानी भी काफी दमदार है। नीरजा का पास्ट फिल्म को सहारा देता है। कहानी में प्लेन हाईजैक का पूरा घटनाक्रम अच्छे से दिखाया गया है। दिल्ली से फ्रेकफर्ट जा रही फ्लाइट को कैसे कराची में हाईजैक कर लिया जाता है।

एक सच्ची हाईजैक की घटना पर आधारित इस फिल्म में कई ऐसी घटनाएं होती हैं जो आपको चौकां दें। खासकर हाईजैकर्स द्वारा पैसेंजर्स पर किए गए अत्याचार। इस फिल्म के निर्देशन की खास बात ये है कि इसे बिल्कुल रियलिस्टिक अंदाज में पेश किया गया है।

फिल्म में एक्टिंग की बात की जाए तो सोनम काफी प्रभावित करती हैं। सोनम का किरदार बहुत अच्छा लिखा भी गया है। सोनम के अलावा शबाना आजमी का किरदार भी काफी दमदार है।

राम माधवानी का निर्देशन भी कमाल का है जो दर्शकों को बांधे रखता है। इस फिल्म की मेकिंग की तुलना किसी भी इंटरनेशनल हाईजैकिंग फिल्म से की जा सकती है।

एयरलिफ्ट के बाद नीरजा आपमें इंसानियत और देशभक्ति का जज्बा जगाती है। ये अहसास केवल फिल्म देखकर ही महसूस किया जा सकता है। ये फिल्म सिर्फ हाईजैकिंग ही नहीं बल्कि मानवीय पहलुओं को भी बखूबी दर्शाती है।

सच्ची कहानी पर आधारित है फिल्म  
राम माधवानी के डायरेक्शन में बनी यह फिल्म एयर होस्टेस नीरजा भनोट की लाइफ पर आधारित है। 1986 में कुछ आतंकवादियों ने पैन-एम 73 यात्री विमान को हाइजैक कर लिया था। इसी दौरान फ्लाइट अटेंडेंट नीरजा भनोट ने अपनी जान गंवाकर फ्लाइट में मौजूद 360 लोगों की जान बचाई थी। नीरजा की उम्र तब केवल 23 साल थी। उनकी इस बहादुरी के लिए उन्हें अशोक चक्र से सम्मानित किया गया, वह इसे पाने वाली पहली सबसे कम उम्र की महिला थीं।

नीरजा के रोल में सोनम कपूर
फॉक्स स्टार स्टूडियोज और ब्लिंग अनप्लग्ड द्वारा निर्मित इस फिल्म में सोनम कपूर ने नीरजा भनोट का रोल प्ले किया है। फिल्म में शबाना आजमी नीरजा की मां की भूमिका में हैं। इसके अलावा म्यूजिक डायरेक्टर शेखर राविजियानी इस फिल्म से एक्टिंग करियर की शुरुआत कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY