भारत की पुरुष टीम ने गुरुवार को एशिया बैडमिंटन टीम चैम्पियनशिप में पहली बार चीन को हराया लेकिन महिला टीम को जापान के हाथों करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा।

पुरुष टीम ने चीन को 3-2 से पराजित किया। के श्रीकांत, अजय जयराम और एच एस प्रणय ने अपने एकल मैचों में जीत दर्ज की लेकिन उसने दोनों युगल मैच गंवाये। भारतीय पुरुष और महिला टीमों ने पहले ही टूर्नामेंट के क्वार्टरफाइनल में प्रवेश कर लिया है।

पुरुष वर्ग में पहले एकल में श्रीकांत ने चीन के होवेई टियान पर 21-11, 21-17 से हराकर भारत को अच्छी शुरुआत दिलायी। श्रीकांत नौंवे स्थान पर काबिज भारत के शीर्ष रैंकिंग के खिलाड़ी हैं।

दूसरे एकल में अजय जयराम ने चीन के क्षेंगमिंग वांग को 22-20, 15-21, 21-18 से हराया। हालांकि वांग रैंकिंग के हिसाब से जयराम से काफी आगे हैं लेकिन इस भारतीय ने शानदार प्रदर्शन करते हुए अपने प्रतिद्वंद्वी को कड़ी चुनौती दी। वांग 11वीं जबकि जयराम 25वीं रैंकिंग पर काबिज हैं।

भारत के एच एस प्रणय (27वीं रैंकिंग) को अपने से निचली रैंकिंग के प्रतिद्वंद्वी युकी शि को हराने में जरा भी पसीना नहीं बहाना पड़ा, उन्होंने चीनी खिलाड़ी को 21-14, 21-10 से पराजित किया।

हालांकि दोनों युगल मैच भारत के लिए काफी निराशाजनक रहे, जिसमें टीमों को हार मिली। मनु अत्री-सुमीत रेड्डी चीन के जुन्हुई लि जिहान कियू से 20-22, 11-21 से हार गए। दूसरे युगल में प्रणव जेरी चोपड़ा-अक्षय देवालकर को यिल्व वांग-वेन क्षांग से 10-21, 18-21 पराजय का मुंह देखना पड़ा।

चीन के खिलाफ भारत की जीत के बाद भारतीय खिलाड़ी और दर्शक खुशी से उछल पड़े, लोगों ने तालियां बजाकर अपनी खुशी का इजहार किया।

मुख्य राष्ट्रीय कोच पुलेला गोपीचंद टीम स्पर्धा में चीन पर अपने खिलाड़ियों की जीत से काफी खुश हैं।
गोपीचंद ने कहा कि हमारी पुरुष टीम की चीन पर शानदार जीत से मैं बहुत खुश हूं। मुझे पूरा भरोसा है कि हमारी टीम इसी लय को जारी रखेगी और देश को गौरवान्वित करेगी।

भारतीय महिला टीम को हालांकि शाम को जापान से 0-5 से शिकस्त झेलनी पड़ी। भारत की स्टार शटलर सायना नेहवाल चोट के कारण टीम का हिस्सा नहीं है। इस मुकाबले में पीवी सिंधु को जापान की नोजोमी ओकुहारा से हार का सामना करना पड़ा। जापानी खिलाड़ी ने यह मैच 18-21, 21-12, 21-12 से जीता।

विश्व में 111वीं रैंकिंग की पीसी तुलसी ने सयाका सातो से 22-24, 14-21 से मैच गंवाया। वर्तमान राष्ट्रीय चैंपियन रित्विका शिवानी गाडे ने जापान की युई हाशिमोतो को कड़ी चुनौती दी लेकिन आखिर में जापानी खिलाड़ी 23-25, 21-14, 21-14 से जीत दर्ज करने में सफल रही।

पहले युगल में जापान की मिसाकी मात्सुमोतो और अयाका तकाहाशी ने भारत की ज्वाला गट्टा और अश्विनी पोनप्पा को 21-12, 21-18 से जबकि दूसरे युगल में शिजुका मात्सुओ और मामी नाइतो ने सिक्की रेड्डी और पीवी सिंधु को 18-21, 21-11, 21-16 से हराया।

LEAVE A REPLY