सुनामी एक्सप्रेस न्यूज

लखनऊ।/कानपुर।  छात्रा हत्याकांड में जुटे पुलिस के आला अधिकारियों को नौ दिन के बाद सफलता मिल गयी है। पुलिस ने छात्रा से रेप करने वाले और उसकी हत्या के करने दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है।

एसएसपी राजेश पांडेय के अनुसार बारहवीं की छात्रा से रेप व हत्या के मामलें में पहले दो संदिग्ध रिक्शा चालकों को हिरासत में लिया था और उनसे पूछताछ की तो मालूम हुआ कि उन्होंने मोबाइल फोन चुराया और मामलें के साक्ष्य छुपाया। जब पुलिस ने उन्हें फोन चुराने और साक्ष्य छुपाने में दोषी पाते हुए जेल भेज दिया।

इसके बाद पुलिस जुटी तो फारेंसिक टीम ने गोल्फ क्लब कर्मचारियों को संबंधित मामलें में कड़ाई से पूछताछ करते हुए कई घंटे सवाल किये। जब उन्होंने अपना जुर्म कबूल लिया। पकड़े गये दोनों आरोपी माइकल और नसीर पर हत्या व रेप की धाराओं में जेल भेजने की तैयारी हो रही है।

जानकीपुरम् एसओ गोपाल सिंह यादव ने बताया कि रिक्शा चालक सदगुरु ने पूछताछ में इन दोनों बदमाशों माइकल और नसीर का नाम लिया था। इसमें दोनों से पूछताछ होने पर वे गुमराह करते रहे। जब फारेंसिंक टीम ने उनसे पूछताछ की तो उन्होंने अपना जुर्म कबूलते हुए छात्रा से लगातार रेप करने की बात कबूली और रेप के दौरान मौत के बाद भी दोनों ने रेप किया, यह भी कबूल किया।

जानकारी के अनुसार दस फरवरी को आरएलबी स्कूल की बारहवीं की छात्रा उन्नति प्रैक्टिकल एग्जाम देने के लिए सेक्टर 14 स्थित अपने स्कूल को  निकली थी। जब वह गायब हुई तो जानकीपुरम् पुलिस ने मामलें में छानबीन शुरू की और पांच दिन बाद छात्रा के शव को मुख्यमंत्री आवास से कुछ दूर पर पाया। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया तो उसमें रेप की पुष्टी हुई। जब मामलें में मोबाइल को ट्रैस करते हुए दो रिक्शा वालों को दबोचा गया।

इनमें एक रिक्शा वाला सद्गुरू ने गोल्फ क्लब के दो कर्मचारियों को शव के निकट ही नशा करते हुए देखने की बात बतलायी तो पुलिस ने दोनों गोल्फ कर्मचारियों माइकल व नसीर को पूछताछ के लिए बुलाया। जब कुछ न मिला तो पुन: रिक्शा वालों से ही पूछताछ की गयी। पूरे मामलें में पुलिस महकमें की नींद उडा दी थी, तो फिर पुलिस को अचानक से फारेंसिंक टीम ने गुत्थी खोलते हुए कामयाबी दिलवा दी।

LEAVE A REPLY