विवेक सिहं कानपुर

– मामले को समझौता कराने के दबाव के लिए प्रताडि़त कर रहा था युवक

कानपुर। बहन के साथ हुई छेड़छाड़ का बदला लेने के लिए युवक ने अरोपियों पर दबाव बनाया। जब देखा कि दबाव नहीं बन रहा है तो योजना के तहत युवक ने जबरन आरोपियों को फंसाने के लिए दोस्तों के साथ मिलकर खुद को गोली मरवा ली। जिसका खुलासा चकेरी पुलिस ने शुक्रवार को करते हुए दो अभियुक्तों को जेल भेज दिया है।

एसएसपी शलभ माथुर ने बताया कि चकेरी थानाक्षेत्र के शिवगोदावरी मोतीनगर इलाके में रहने वाले मुफीद ने पुलिस को यह सूचना दी कि पुरानी रजींश को लेकर सोनू व उसके पिता शंकर निषाद ने अपने साथी आजम के साथ मिलकर मैरिटरी फार्म के पास बने मजार में गोली मार दी। पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेकर घायल को इलाज के लिए हैलट अस्पताल में भर्ती कराया और मामले की गहनता से छानबीन शुरु कर दी।

मामले को लेकर सीओं कैंट ने तफ्तीश की तो यह पता चला कि वादी ने बाबूपुरवा निवासी आरिफ, अकरम पर बहन के साथ छेड़छाड़ व दुष्कर्म किए जाने की तहरीर दर्ज करायी है। जिसमें अकरम के पिता आजम के साथ वादी का मामले को समझौता किए जाने की बाद प्रकाश में आ रही थी।लेकिन वादी अधिक पैसंे की मांग व न देने पर आरोपी को मुकदमे में फसंाने की धमकी दी जा रही थी।

इस पर पीडि़त शंकर ने मुफीद व उसके साथी मुन्ना लंगड़ आदि पर दबाब बनना व न करने पर मामले को मुकदमे में फसंाने की बात कहते हुए चकेरी में मुकदमा दर्ज कराया। जहां पुलिस ने मामले को लेकर जांच पड़ताल शुरु कर दी। इस पर पुलिस को यह पता चला कि वादी मुफीद ने खुद को गोली मारी है। जिसमें उसका साथ उसके साथी मुन्ना लंगड़ा व आसिफ ने की है। चकेरी इंस्पेक्टर अजय कुमार सिंह मामले को लेकर जांच की और पूछतांछ के लिए मुन्ना व उसके साथी आसिफ को गिरफ्तार कर लिया।

सख्ती से पूछतांछ पर अभियुक्तों ने अपना गुनाह कबुल कर बताया कि मुफीद ने आजम व शंकर को फंसाने के लिए खुद ही गोली चलवाई थी। एसएसपी ने बताया कि वादी ने जबरन फसानंे के लिए योजना बद्ध तरीके से अजंाम दिया है। पुलिस ने अभियुक्त के कब्जे से तंमचा बरामद कर लिया है। फिलहाल अभियुक्तों को जेल भेजा जा रहा है।

LEAVE A REPLY