सबसे सस्ता स्मार्ट फोन देने का दावा करने वाले शामली के मोहित ने दुनियाभर में चर्चा पा ली है, लेकिन शामली एवं उनके आसपास के लोग इसे सपने जैसा मान रहे हैं। उन्हें मोहित की कामयाबी पर तो यकीन है, लेकिन इतने सस्ते मोबाइल को लेकर लोग सकते में हैं। मोहित के पिता शामली में किराना की दुकान करते हैं।

शामली में जवाहर गंज मंडी में किराना की दुकान करने वाले राजेश गोयल के पुत्र मोहित गोयल ने चंद दिनों में रिंगगिंग बेल्स प्राइवेट कंपनी बना महज 251 रुपये में स्मार्ट फोन देने का दावा किया है। शामली ज्वाला गंज एवं पाकिस्तान मंडी के कोने पर ही राजेश गोयल का मकान है। राजेश के साथ उनकी पत्नी सुषमा रहती हैं। जबकि मोहित लगभग एक साल से नोएडा में है।

17 फरवरी को दिल्ली में इसका भव्य उद्घाटन हुआ। उद्घाटन समारोह के लिए शामली के कई परिचितों को निमंत्रण दिया गया, लेकिन इनमें से कुछ ही लोग समारोह में उपस्थित हो सके। पिता राजेश गोयल भी व्यस्तता के कारण अगले ही दिन दिल्ली से लौट आए। शामली में मोहित के परिवार से आसपास के लोगों से जब मोहित एवं उसके सस्ते मोबाइल के बारे में बातचीत की गई तो सभी से मोहित की सराहना तो की लेकिन उन्हें 251 में स्मार्ट फोन मिलेगा यह सब स्वप्न जैसा लग रहा है।

ज्वाला गंज मंडी निवासी राजीव तायल का कहना है कि मोहित शुरुआत से ही महत्वकांक्षी रहा है। छह सात महीने से तो उससे कम मिलना हुआ लेकिन उससे पहले उससे मुलाकात होती रहती थी। वह अपनी दुकान पर भी बैठा रहता था। जहां तक वह उसे जानते है उसने यह सब कदम सोच समझकर ही उठाया होगा लेकिन 251 रुपये में मोबाइल का कवर भी नहीं मिलता इतने में मोबाइल मिलना अपने आप में आश्चर्य चकित कर रहा है।

मोहित के घर के पड़ौस के ही दुकानदार जयकुमार का कहना है कि सस्ते से सस्ता स्मार्ट फोन तीन हजार रुपये से कम नहीं मिला यह सभी के लिए अच्छा होगा कि 251 में मोबाइल मिल जाए लेकिन यह कैसे होगा इसको मोहित ही अच्छी तरह से बता सकता है।

ज्वाला गंज निवासी कपिल तायल का कहना है कि मोहित पूर्व में किरयाना मर्चेंट एसोसिएशन में पदाधिकारी रह चुका है। उसने व्यापारियों की समस्या समाधान को भी बढ़चढ़ कर भाग लिया। कुछ करके दिखाने का जज्बा उसमें है। 251 में मोबाइल देना एक साहसी भरा कदम है। कारण कोई भी व्यापार हो उसमें लाभ हानि पहले देखकर ही शुरू किया जाता है। जहां तक मेरा मानना है कि यह सब आंकलन करने के बाद ही कदम उठाया गया होगा।

अग्रवाल मित्र मंडल के चेयरमैन नवीन गर्ग का कहना है कि कुछ भी हो मोहित ने शामली का नाम रोशन कर दिया। उन्हें विश्वास है कि मोहित अपने वादे पर खरा साबित होगा। किसी भी काम की शुरुआत हो उसमें क्रिया प्रतिक्रिया तो होती ही है। जहां तक वह मोहित को जानते है उसे ऐसा करने से पहले पूर्ण प्लानिंग की होगी।

शामली के पूर्व चेयरमैन एवं पूर्व विधायक राजेश्वर बंसल को भी 251 में स्मार्ट फोन मिलने पर विश्वास नहीं हो रहा है। उनका कहना है कि वह मोहित को जानते तो नहीं लेकिन ऐसा हो गया तो यह शामली के लिए एक बहुत बड़ी उपलब्धि होगी।

स्कूल का सज्जन छात्र रहा मोहित
शामली के सेंट आरसी कांवेट स्कूल के छात्र रहे मोहित गोयल को लेकर स्कूल के चेयरमैन एवं नगर पालिकाध्यक्ष अरविंद संगल का कहना है कि मोहित एक अनुशासित छात्र रहा है। जिस काम का बीडा उसने उठाया है वह अपने आप में एक साहसी कदम है। कीमत को लेकर आश्चर्य जरूर हो रहा है लेकिन मेरा मनना है कि वह इस कार्य को सफलता पूर्वक अंजाम देगा। इससे पहले भी रिलायंस भी ऐसा प्रयोग कर चुकी है उस समय रिलायंस ने सबसे सस्ता मोबाइल जांच किया था।

पिता को बेटे पर विश्वास
किरयाना व्यापारी राजेश गोयल को अपने पुत्र की कामयाबी पर पूर्ण विश्वास है। वह मोहित की कंपनी में एडीशनल डायरेक्टर भी है। हालांकि वह कंपनी के इतने सस्ते मोबाइल की प्लानिंग नहीं बताई लेकिन उनका कहना है कि उनके बेटे के द्वारा स्मार्ट फोन देने का सपना साकार होगा। जब लोग दुनिया का सबसे सस्ता मोबाइल फोन हाथ में होगा तो बाजार तमाम तरह की जो अफवाहों चल रही है उस पर खुद व खुद विराम लग जायेगा। उनके बेटे का उद्देश्य है कि एक गरीब से गरीब व्यक्ति भी स्मार्ट फोन का प्रयोग कर इंटरनेट के जरिए दुनिया से जुड़े। वह अपने उद्देश्य में जरूर कामयाब होगा। इ कंपनी में मोहित की मां सुषमा गोयल भी एडीशनल डायरेक्टर है। जबकि मोहित की पत्नी धारणा गोयल सीईओ है।

शामली में नहीं डिस्ट्रीब्यूटरशिप
रिंगगिंग बेल्स प्राइवेट लिमेटिड कंपनी के एमडी एवं शामली निवासी मोहित गोयल ने जहां दुनिया के सबसे सस्ते मोबाइल के लिए पूरे देश विभिन्न राज्यों में कई जनपदों में डिस्ट्रीब्यूटर बना उनका प्रचार प्रसार किया है वहीं इस प्रचार प्रसार में शामली में किसी को डिस्ट्रीब्यूटर नहीं बनाया गया है। जिन जनपदों के डिस्ट्रीव्यूटर्स के फोन नंबर दिए गए है उन पर भी संपर्क नहीं हो रह है।

LEAVE A REPLY