(शैलेश कुमार पाण्डेय )
छपरा : 24 फरवरी से होनेवाली इंटरमीडिएट परीक्षा पूरी तरह कदाचार मुक्त होगी. वहीं केंद्रों पर गतिविधियों की निगरानी के लिए सीसीटीवी कैमरा के अलावा वीडियोग्राफी की व्यवस्था की गयी है, जिससे छात्रों, वीक्षकों, केंद्राधीक्षकों व तैनात अन्य मजिस्ट्रेट व पुलिसकर्मियों की गतिविधियों को चिन्हित किया जा सके. ये बातें डीएम दीपक आनंद ने शुक्रवार को जिला नगर पर्षद के सभागार में जिले के सभी पुलिस, प्रशासनिक, शिक्षा विभाग के पदाधिकारियों, केंद्राधीक्षकों व प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी के साथ बैठक करते हुए कहीं. उन्होंने कहा कि कदाचार की शिकायत मिलने एवं प्रमाणित होने पर किसी को नहीं बख्शा जायेगा. वहीं अभिभावक यदि मटरगस्ती करते चिट पुरजा के साथ पकड़ायेंगे, तो उन्हें परीक्षा संचालन अधिनियम के तहत कार्रवाई करते हुए जेल भेजा जायेगा. डीपीआरओ बीके शुक्ला के अनुसार केंद्राधीक्षकों के अलावा परीक्षा केंद्रों पर सतत निगरानी के लिए उड़न दस्ता, गस्ती दल एवं स्थायी मजिस्ट्रेट व पुलिस पदाधिकारी की तैनाती की जायेगी.  56 केंद्रों पर 65 हजार परीक्षार्थी होंगे शामिल : जिले के छपरा मुख्यालय, मढ़ौरा एवं सोनपुर अनुमंडल मुख्यालय में कुल 65 हजार विद्यार्थी, आर्टस, साइंस एवं कामर्स विषयों में सभी 56 केंद्रों पर परीक्षा देंगे. इनमें छपरा में 48, सोनपुर में पांच तथा मढ़ौरा अनुमंडल मुख्यालय में चार केंद्र शामिल हैं. यदि कोई छात्र कदाचार के आरोप में पकड़ा जाता है तो उन्हें एक या एक से अधिक वर्षों के लिए परीक्षा से वंचित करते हुए न्याय संगत कानूनी कार्रवाई की जायेगी. डीएम ने सभी प्रतिनियुक्त पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि वे निर्धारित समय से पहले अपने केंद्रों पर पहुंच कर परीक्षार्थियों की सघन जांच कराकर ही परीक्षा हॉल में इंट्री करायेंगे. इसके लिए पर्याप्त संख्या में महिला केंद्रों पर महिला पदाधिकारी, वीक्षक, महिला पुलिस तैनात की जायेगी.
फोटो स्टेट दुकानों पर रहेगी विशेष नजरimages
फोटो स्टेट दुकानों की लिष्टिंग कर उनकी गतिविधियों पर नजर रखने के लिए पदाधिकारियों की तैनाती के साथ-साथ सभी परीक्षा केंद्रों पर आधारभूत सुविधा सुनिश्चित करने के लिए पदाधिकारियों की टीम से जांच कराकर मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने का निर्देश भी डीएम ने दिया.
बैठक में सदर एसडीओ सुनिल कुमार, मढौरा एसडीओ संजय राय, सोनपुर एसडीओ मदन कुमार, सहायक पुलिस अधीक्षक मनीष,, अनुमंकडल पुलिस पदाधिकारी सत्यनारायण कुमार, राकेश कुमार सिंह, राकेश कुमार, मो. अली,  डीइओ चंद्रकिशोर प्रसाद यादव, डीपीओ स्थापना एलएन रजक, डीपीओ एमडीएम अवधेश बिहारी व अन्य पदाधिकारी व सभी केंद्राधीक्षक मौजूद थे.

LEAVE A REPLY