मुकेश तिवारी(09770767103)@सुनामी मीडिया राज्य ब्यूरो चीफ छग ।
बिलासपुर । सिविल लाइन पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर कार्रवाई करते हुए मेडिकल स्टोर संचालक और एक नाबालिग को हिरासत में लिया है। पुलिस को एक्टीवा में लेकर जा रहे सौ नग इंजेक्सन और 22 सौ नग टेवलेट बरामद मिला है। पकडे गये आरोपियो पर नार्को एक्ट के तहत कार्रवाई की गयी है।पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मुखबीर की सूचना पर कार्रवाई करते हुए जरहाभाठा क्षेत्र में रहने वाले एक नाबालिग युवक को नशीली दवाई बेचने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। सूचना के अनुसार नाबालिग एक्टीवा से नशीली दवाईयां खरीदने जा रहा था। पुलिस ने सूचना के अधार पर नाबालिग को जरहाभाठा के सुलभ काम्पलेक्स के पास रुकवाकर पुछताछ की गयी। पहले तो उसने पुलिस को गुमराह करने का प्रयास किया। सख्ती करने पर वह टूट गया।नाबालिग ने पूछताछ में बताया कि उसने नशीली दवाइयों को हेमूनगर निवासी मनोहर खटवानी से खरीदा है। पुलिस ने नाबालिग से सागर मेडिकल स्टोर के संचालक को फोन कर इमलीपारा रोड बुलवाया। सिविल ड्रेस में तैनात पुलिस जवानों ने मनोहर खटवानी को मौके पर नशीली दवाईयो के साथ हिरासत में लिया। पुलिस ने आरोपी मेडिकल संचालक के पास से 22 सौ नाईट्रोसिन टेबलेट और रेक्सोजेसिक इन्जेक्शन के सौ नग और बाईस सौ पचास रूपये बरामद किये है। पुलिस ने दो एक्टीवा भी जब्त किया है। दोनो पर नार्को एक्ट के तहत कार्रवाई की जा रही है।मालूम हो कि मेडिकल दुकान संचालक को इसके पहले भी नशीली दवाइयों के कारोबार में कई बार गिरफ्तार किया जा चुका है। लेकिन साक्ष्य में कमीहोने के कारण उसे बिना सजा के छोड़ दिया गया। पुलिस ने बताया कि मनोहर की दुकान सागर मेडिकल स्टोर में औषधि विभाग का भी छापा पड़ चुका है।

सुचना के आधार पर कार्यवाही की गयी है और मेडिकल संचालक व् नाबालिक को नार्को एक्ट के तहत जेल भेज दिया गया है ”
(थाना प्रभारी सिविल लाइन बिलासपुर नसर सिद्द्द्की )

LEAVE A REPLY