download (2)

(शैलेश कुमार पाण्डेय )

गोपालगंज : बिहार के प्रमुख हिंदुओं के दर्शनीय स्थलों में थावे का नाम आता है , यहा देश के बिभिन्न हिस्सों से लोग माँ दुर्गा के दर्शन के लिए आते है नवरात्रि में तो यहाँ प्रतिदिन हाजारो कि सख्या में देश के बिभिन्न हिस्सों से लोग दर्शन के लिए आते है , ऐसे सप्ताह के दो दिन शुक्रवार और सोमवार के दिन यहा श्रधालुओं कि भीड़ लगी रहती है , चुनाव के समय में बिहार समेत देश के बिभिन्न हिस्सों से नेता भी जब चुनाव प्रचार के लिए जिले में आते है तो थावे जाकर दर्शन जरूर करते है , हर बार चुनाव में थावे को पर्यटन स्थल का दर्जा दिलाने कि बात हर राजनीतिक दल के नेताओ द्वारा किया जाता है लेकिन चुनाव के बितने के बाद नेताजी अपने वादे को भूल जाते है , आखिर कब पूरा होगा थावे को पर्यटन स्थल बनाने का सपना  , बिहार के माननीय मुख्यमंत्री श्री नितीश कुमार और और उस समय के तत्कालीन पर्यटन मंत्री श्री सुनील कुमार पिंटू के साथ स्थानीय विधायक श्री सुबास सिंह के गरिमामयी उपस्थिति में थावे मंदिर परिसर में यात्री शेड के शिलान्यास का कार्य हुआ लेकिन तिन  साल बित जाने के बाद आज तक कार्य प्रारंभ नही हुआ , आखिर थावे मंदिर  के विकास  प्रति स्थानीय जनप्रतिनिधियों कि उदासीनता का कारण क्या है , अगर थावे को पर्यटन स्थल का दर्जा मिल जाता तो जिले युवाओ को भी रोजगार के नए अवसर मिलते इसके लिए नेताओ को थावे मंदिर  विकास के लिए  पहल करने कि जरूरत है .

LEAVE A REPLY