अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री अब्दुल गफूर के राजद के पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन से सीवान जेल में मुलाकात करने के बाद राजनीति फिर गरमा गयी है। मंत्री दो दिन पहले सीवान आये थे और रविवार को चुपके से शाम चार बजे जेल में शहाबुद्दीन से मुलाकात की। उनके साथ रघुनाथपुर के विधायक हरिशंकर यादव समेत एक-दो और विधायक भी थे। वहां बेतिया के राजद नेता पप्पू खां भी थे। जेल के अंदर ही शहाबुद्दीन के समर्थकों ने फोटो खींचकर दो दिन बाद मंगलवार को फेसबुक पर डाल दिया जिससे इस मुलाकात का खुलासा हुआ। तस्वीर देखने से पता चला कि जेल अधीक्षक के चैम्बर में नाश्ता-पानी का इंतजाम था। जेल मैन्युअल की परवाह किए बिना चुपके से मुलाकात कराई गई। मंत्री सीवान में एक स्कूल का उद्घाटन करने पहुंचे थे और सीवान परिसदन में ठहरे हुए थे। जेल भी ठीक उसके सामने है। जेल अधीक्षक राधे श्याम सुमन ने कहा कि जेल के नियामानुसार मंत्री को मिलाया गया है।

जेल में किसी से मिलना अपराध नहीं: लालू
पटना।
राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने कहा है कि जेल में किसी से मिलना कोई अपराध नहीं है। जेल मैनुअल के अनुसार कोई मिल सकता है। श्री प्रसाद एक निजी चैनल के उस सवाल का जवाब दे रहे थे जिसमें सीवान जेल में पूर्व सांसद शहाबुद्दीन से राज्य सरकार के मंत्री अब्दुल गफूर की मुलाकात के बारे में पूछा गया था।

LEAVE A REPLY