बडी खबर

-परिजनों ने बच्चे को अस्पताल में कराया भर्ती, डाक्टरों इलाज में जुटे

सुनामी एक्सप्रेस न्यूज

कानपुर,। चकेरी थाना क्षेत्र में एक महिला की गोद से पांच महीने का बच्चा पहली मंजिल से नीचे जा गिरा। परिजनों ने गंभीर हालत में बच्चे को अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया। डाक्टरों के मुताबिक बच्चे की हालत नाजुक बनी हुई है। वहीं पड़ोसी भांग के नशे में महिला से
बच्चा गिरने की बात कह रहे हैं।

चकेरी ़के ओम पुरवा इलाके में सम्मी बनियान फैक्ट्री में काम करता है। सम्मी के माने तो रोज की तरह बुधवार को सुबह नौ बजे वह काम पर चला गया। फैक्ट्री पहुंचते ही उसके एक पड़ोसी ने जानकारी दी कि उसका पांच महीने का बच्चा छज्जे से नीचे गिर गया है, जल्दी घर आ जाओ। यह जानकारी मिलते ही वह उल्टे पांव दौड़कर घर लौटा और आनन-फानन बच्चे को अस्पताल में भर्ती कराया। जहां डाक्टरों ने उसका इलाज शुरू कर दिया। डाक्टरों का कहना है कि बच्चे की हालत नाजुक बनी हुई है।

पति ने किया बाहर निकलने से मना
सम्मी ने बताया कि पत्नी राधा ने शिवरात्रि के दिन ठंडाई में भांग मिलाकर पी ली थी। इसके बाद वो मंगलवार को दिनभर सोती रही। बुधवार को उठी तो हल्का नशे में थी। उसने पत्नी को घर से बाहर निकलने से मना करते हुए काम पर चला गया था। मगर उसे ये नहीं पता था कि पत्नी ऐसी हालत में बेटे को लेकर छज्जे पर चली जाएगी और ये घटना हो जाएगी।

पड़ोसियों ने कहना
आसपास के लोगों का कहना है कि राधा ने नशे के हालत में छज्जे के पास खड़ी थी तभी अचानक उसने बच्चे को फेंक दिया। लोगों की माने तो नशे में होने की वजह से उसका मानसिक संतुलन खराब हो गया था। राधा की मां रामजानकी ने बताया कि उसकी बेटी की शादी 10 साल पहले हुई थी। एक पांच साल की बेटी मुस्कान है और पांच महीने पहले एक बेटा हुआ था। शिवरात्रि पर ठंडाई में भांग पीने से बेटी की दो दिन से मानसिक हालत ठीक नहीं थी। वो छज्जे पर खड़ी थी तभी बच्चा हाथों से छूट गया।

LEAVE A REPLY