राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आएसएस) के स्वयंसेवक अपने पारंपरिक खाकी हाफ पैंट की बजाय जल्द ही फुल पैंट में नजर आ सकते हैं। राजस्थान के नागौर जिले में 11 मार्च से शुरू हो रही आरएसएस की एक बैठक में इस पर फैसला हो सकता है।

आरएसएस के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख मनमोहन वैद्य ने कहा, वर्दी में बदलाव अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा के एजेंडा में है।

गौरतलब है कि अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा आरएसएस की सर्वोच्च नीति-निर्माण इकाई है। इसकी बैठक 11 मार्च से नागौर में शुरू होने वाली है।

वैद्य ने बताया कि 2010 में वर्दी में बदलाव का मुद्दा एक बैठक में उठाया गया था लेकिन आम सहमति न बन पाने के कारण इसे 2015 तक टाल दिया गया था। उन्होंने कहा कि शीर्षस्थ संस्था आगामी बैठक में इस पर फैसला कर सकती है।

आरएसएस के सदस्य अभी खाकी हाफ पैंट और पूरी बाह वाली सफेद कमीज पहनते हैं जो कुहनी तक मुड़ी रहती है। अपने गणवेश के तहत वे काली टोपी भी लगाते हैं।

LEAVE A REPLY