रूस की दिग्गज टेनिस स्टार खिलाड़ी मारिया शारापोवा ने सोमवार को बताया कि विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (वाडा) ने उन्हें सूचित किया है कि वह जनवरी में ऑस्ट्रेलियन ओपन में हुए ड्रग टेस्ट में फेल हो गई हैं।

शारापोवा ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि वह पिछले 10 साल से स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों के कारण ‘मिल्ड्रोनेट’ नामक दवा ले रही हैं, जिसका ड्रग टेस्ट में परिणाम ‘पॉजीटिव’ आया है।

क्या है ‘मिल्ड्रोनेट’ जानें इसके बारे में

क्या करती है ‘मिल्ड्रोनेट’?

दवाओं की वेबसाइट ग्रिंडेक के अनुसार, मिल्ड्रोनेट दिल और परिसंचारी की समस्या से जूंझ रहे लोगों की शारीरिक और दिमागी क्षमता को बढ़ाती है। स्वस्थ लोगों की क्षमता को भी बढ़ाती है। मिल्ड्रोनेट पर बैन इसलिए लगा दिया गया था क्योंकि यह ऑक्सीजन और सहनशक्ति को बढ़ा देती है।

कौन करता है इसका इस्तेमाल?

मिल्ड्रोनेट नामक दवा का उपयोग सीने में दद, दिल का दौरा या फिर मधुमेह जैसे रोगों के उपचार में किया जाता है। लेकिन कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि खिलाड़ी इसका उपयोग प्रदर्शन क्षमता बढ़ाने के लिए करते हैं और यह रिकवरी में भी मदद करता है।

मिल्ड्रोनेट का इस्तेमाल सबसे ज्यादा पश्चिमी यूरोप और पूर्व सोवियत देशों में किया जाता है। ये दवा दिल के मरीजों को दी जाती है और ये ऑनलाइन भी उपलब्ध होती है। ऐसा पता चला है कि कई खिलाड़ियों ने इस दवा के बैन होने से पहले इसका इस्तेमाल किया है।

अमेरिका की पार्टनरशिप फॉर क्लीन कॉम्पीटीशन के बताया कि 8,300 खिलाड़ियों के सैम्पल में से 182 में ये ड्रग पाया गया था।

क्यों हुई है बैन?

वर्ल्ड एंटी डोपिंग एजेंसी ने मिल्ड्रोनेट के इफेक्ट्स और इस्तेमाल की जांच करने के बाद ही इस पर एक जनवरी 2016 से बैन लगाया था। वाडा ने बैन लगाने से तीन महीने पहले अपनी वेबसाइट पर इसकी जानकारी दी थी। यही नहीं रूस की एंटी-डोपिंग एजेंसी ने भी इसका एलान किया है।

ये खिलाड़ी भी हुए हैं ड्रग टेस्ट में फेल

शारापोवा की तरह विश्व की टॉप आईस-डांसर ने भी सोमवार को टेस्ट में पॉजीटिव पाये जाने की जानकारी दी थी। 2014 विंटर ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतने वाली यूरोपियन चैंपियन इकाटेरिना बॉबरोवा भी टेस्ट फेल करने से हैरान हैं।

पिछले कुछ महीनों में रूसी साइक्लिस्ट एडुआडरे वोर्गानोव, इथोपिया मूल की एथलीट एंडेशॉ नेगेसी और अबेबा आरेगावी तथा यूक्रेन की बायएथलीट ओल्गा अबरामोवा और आर्टेम टाएचेंको को मेलडोनियम के सेवन का दोषी पाया गया है। मौजूदा समय में शारापोवा सबसे मशहूर टेनिस खिलाड़ी हैं जिन्हें इस दवा के उपयोग का दोषी पाया गया है।

टेनिस जगत में इससे पहले क्रोएशिया के मारिन सिलिच को साल 2013 में प्रतिबंधित दवा के सेवन के आरोप में नौ महीने के लिए प्रतिबंधित किया गया था। बाद में उनके निलंबन को चार महीने कर दिया गया था। पूर्व नंबर एक खिलाड़ी मार्टिना हिंगिस को साल 2007 में कोकिन के सेवन का दोषी पाया गया था जिसके कारण उन्हें दो साल का निलंबन झेलना पड़ा था। गत साल अमेरिकी खिलाड़ी वाएने ओडेसनिक पर दूसरी बार डोप में फेल होने पर 15 साल का प्रतिबंध लगाया गया था

मौजूदा विश्व की सातवें नंबर की खिलाड़ी शारापोवा साल 2008 में ऑस्ट्रेलियन ओपन, 2012 और 2014 में फ्रेंच ओपन, साल 2004 में विंबलडन और 2006 में यूएस ओपन ग्रैंड स्लेम एकल खिताब जीत चुकी हैं।

LEAVE A REPLY