धर्मशाला, 16 मार्च – उपायुक्त कांगड़ा रितेश चौहान की अध्यक्षता में कांगड़ा जिला में समस्त विकास खण्डों में चल रहे विभिन्न विकास कार्यों की प्रगति की समीक्षा को लेकर बैठक आयोजित की गई। बैठक में जिला के सभी खण्ड विकास अधिकारियों एवं डीआरडीए के अधिकारियों ने भाग लिया।
इस अवसर पर चौहान ने अधिकारियों को कांगड़ा जिला की सभी ग्राम पंचायतों के परिवार रजिस्टर 31 मार्च, 2016 से पहले ऑनलाइन करने के निर्देश दिए। इसके लिए पंचायती राज विभाग ने ऑनलाइन परिवार रजिस्टर पोर्टल भी विकसित किया है। उन्होंने बताया कि परिवार रजिस्टर के ऑनलाइन होने के उपरांत यह कार्य सुविधाजनक तरीके से किया जा सकेगा। इसके अतिरिक्त लोगों को परिवार का ब्यौरा ऑनलाइन उपलब्ध होने से विभागीय कार्य प्रणाली में पारदर्शिता आएगी।
उन्होंने कहा कि 20 मार्च, 2016 को ग्राम सभा की होने वाली बैठक में पीलिया से बचाव से संबंधित एजेन्डा रखा जाए तथा पीलिया रोग से बचाव एवं उपाय वाले विशेष पैम्फलेट वितरित किए जाए। उन्होंने कहा कि गांव में प्राकृतिक पेयजल स्त्रोतों की साफ-सफाई सुनिश्चित बनाने तथा सभी स्त्रोतों की क्लोरीफिकेशन करवाने के लिए महिला मंडल, युवक मंडल तथा ग्राम पंचायत स्तर के लोगों का सहयोग लिया जाए।
उपायुक्त ने कहा कि ग्राम पंचायत स्तर पर बीपीएल से संबंधित सभी परिवारों के घरों के बाहर बीपीएल संख्या अंकित की जाए। उन्होंने कहा कि बीपीएल संख्या अंकित करने का खर्च संबंधित ग्राम पंचायतों द्वारा वहन किया जाएगा।
चौहान ने जिले में कार्यरत स्वयं सहायता समूहों द्वारा तैयार विभिन्न उत्पादों को प्रदर्शित करने के लिए उपयुक्त स्थल उपलब्ध करवाने पर बल दिया। उन्होंने डीआरडीए के पदाधिकारियों को हर महीने की 5 तारीख को ऐसे 5-5 स्वयं सहायता समूहों को अपने उत्पाद प्रदर्शन एवं बिक्री के लिए रखने हेतु उपायुक्त कार्यालय के समीप उपयुक्त स्थल की व्यवस्था करवाने के निर्देश दिए।
चौहान ने जिला के समस्त खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे हर सप्ताह अपने-अपने खण्ड से संबंधित सफलता की कहानियां डीआरडीए कार्यालय को भिजवाएं ताकि उन्हें लोक सम्पर्क विभाग के माध्यम से समाचारपत्रों में प्रकाशित करवाया जा सके, ताकि गांव में हो रही विकासात्मक गतिविधियों की जानकारी अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाई जा सके।
उन्होंने सभी बीडीओ को निर्देश दिए कि वर्ष 2010-11 के अंतर्गत जिन 1859 विकासात्मक कार्यो के लिए लगभग 18 करोड़ रूपये की राशि जारी की गई थी, उन लंबित कार्यों को आगामी तीन माह के भीतर प्राथमिकता के आधार पर आरम्भ किया जाए, ताकि लोगों को शीघ्रातिशीघ्र योजनाओं का लाभ प्राप्त हो सके।
उन्होंने नवरात्रों सहित अन्य अवसरों पर जिलाभर में लगने वाले मेलों के दौरान साफ-सफाई के दृष्टिगत सभी महत्वपूर्ण स्थलों पर अस्थाई शौचालय सुविधा उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए।service

LEAVE A REPLY