(शैलेश कुमार पाण्डेय )

गोपालगंज : एक तरफ जहा देश के नेता अपनी  अपने विवादास्म्क बयान देकर अपने को सुर्खियों में लाने का प्रयास कर रहे है , आये दिन कोइ ण कोइ नेता विवादित बयान देकर अपने राजनितिक फायदे के लिए देश को बाटने में लगे है , तो आज भी भारत में ऐसे लोग भी है जिनके लिए सबसे बड़ा धर्म अपना देश है वे हर हाल में अपने देश का अपमान नही बर्दाश्त कर सकते है , कुछ ऐसा ही वाकया जिले के हुआ जिसको सुनकर मजहब के नाम पर राजनितिक रोटी सेकने वाले नेताओ को भी सतर्क रहना पड़ेगा , हैदराबाद के सांसद और ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (एआइएमआइएम) के चीफ असदुद्दीन ओवैसी के ‘भारत माता की जय’ नहीं बोलने से संबंधित बयान से नगर थाने के एकडेरवा गांव निवासी 90 वर्षीया रसीदन खातून को सदमा लगा है. वह अपने घर में उस वक्त ओवैसी के बयान वाली खबर देख रही थी. सदमा लगने से तबीयत खराब होने पर उन्हें अस्पताल में भरती कराया गया.2016_3$largeimg217_Mar_2016_204310130गुरुवार को इस मामले को लेकर रसीदन के बेटे कुरबान अंसारी ने ओवैसी के विरुद्ध सीजेएम कोर्ट में देशद्रोह का आरोप लगाते हुए मुकदमा दायर किया. न्यायालय ने मुकदमे को सुनवाई के लिए सुरक्षित रखा है. महिला के बेटे ने दायर मुकदमे में आरोप लगाया है कि उसकी मां 16 मार्च की शाम एक चैनल पर ओवैसी के विवादित बयान ‘भारत माता की जय’ नहीं बोलनें से संबंधित खबर देख रही थी, तभी अचानक सदमा लगा और वह बेहोश होकर गिर पड़ी. चिकित्सक के पास इलाज कराने के बाद रसीदन खातून होश में आयी. उसके बेटे ने ओवैसी के बयान को देशद्रोह समझ कर सदमा लगने का आरोप लगाया है.

LEAVE A REPLY