मेन-सी-खंग का शताब्दी समारोह
मेन-सी-खंग का शताब्दी समारोह

आज धर्मशाला के मैक्लोड़गंज में धर्मगुरू दलाईलामा की उपस्थिति में मेन-सी-खंग तिब्बतियन मेडिकल कॉलेज का शताब्दी समारोह मनाया गया। समारोह में वन मंत्री ठाकुर सिंह भरमौरी तथा आयुर्वेद मंत्री कर्ण सिंह ने बतौर विशेष अतिथि शिरकत की।
इस अवसर पर ठाकुर सिंह भरमौरी ने कहा कि हिमाचल के वनों में औषधीय जड़ी-बूटियों एवं पौधों की अकूल सपंदा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार वनों में फलदार एवं औषधीय पौधे तथा आयुर्वेद की दृष्टि से महत्वपूर्ण जड़ी-बूटियों के संरक्षण के साथ-साथ इन्हें लगाने पर बल दे रही है। उन्होंने कहा कि विगत तीन वर्षों के दौरान प्रदेश में एक करोड़ औषधीय पौधे लगाए गए हैं तथा वर्तमान वित्त वर्ष में 45 लाख और औषधीय पौधे रोपने का लक्ष्य है।
इस दौरान आयुर्वेद मंत्री कर्ण सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति के सुदृढ़ीकरण के लिए वचनबद्ध है। उन्होंने कहा कि सरकार आयुर्वेदिक अस्पतालों के अधोसंरचनात्मक विकास एवं नवीन उपकरणों से सुसज्जित करने पर बल दे रही है। उन्होंने कहा कि आयुर्वेद के साथ-साथ तिब्बतियन चिकित्सा पद्धति के विकास एवं उपयोग पर बल दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि तिब्बतियन चिकित्सा पद्धति एवं तिब्बतियन औषधियों से बड़ी संख्या में लोगों को अवगत करवाने के लिए प्रदेश के महत्वपूर्ण स्थलों पर तिब्बतियन औषधी केन्द्र स्थापित करने पर विचार किया जा रहा है।
इस अवसर पर लाहौल-स्पिति के विधायक रवि ठाकुर तथा निर्वासित तिब्बतियन सरकार के प्रधानमंत्री एवं मंत्रीगण, अधिकारी एवं कर्मचारी तथा तिब्बतियन समुदाय के लोग उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY