(शैलेश कुमार पाण्डेय )

गोपालगंज : शहर के हनुमानगढ़ी मोहल्ले में बिन टोली के समीप गुरुवार को दूध देकर अपने घर लौट रहे एक ग्रामीणों को रोक कर कुछ लोगों ने लाठी से मारपीट कर गंभीर रूप से घायल कर दिया गया। घायल को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां इलाज के दौरान अधेड़ की शुक्रवार की सुबह मौत हो गयी। अधेड़ की मौत होने की जानकारी मिलते ही उनके गांव ग्रामीण उग्र हो गए, सदर अस्पताल से शव बिना पोस्टमार्टम के उठा कर लोग साधु चौक पर एनएच-28 पर रख दिया तथा आगजनी कर हाइवे को जाम कर दिया गया. उग्र लोग हत्यारों की गिरफ्तारी तथा मौके पर एसपी और डीएम को बुलाने की मांग पर अड़े हुए थे. स्थिति विस्फोटक हो गयी.

मौके पर पहुंचे इंस्पेक्टर विमल कुमार, सब इंस्पेक्टर अमित कुमार के साथ पहुंचे. पुलिस को आक्रोश का सामना करना पड़ा. बाद में एसडीओ मृत्युंजय कुमार, एसडीपीओ मनोज कुमार पहुंचे. थावे थानाध्यक्ष प्रवीण कुमार सिधवलिया थानाध्यक्ष अशोक कुमार पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे काफी मशक्कत के बाद डेढ़ घंटे में हाइवे जाम को हटाया जा सका. प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि गुरुवार को होली के जश्न में लोग डूबे हुए थे. बाइक पर सवार हनुमानगढ़ी के युवक सरेया वार्ड नं-3 बीन टोली में पहुंच कर अश्लील हरकत कर रहे थे. इसका विरोध शिव शंकर शर्मा उर्फ सुकट 55 वर्ष ने किया, तो मारपीट पर उतारू हो गये. लोगों ने बीच- बचाव कर इन्हें भगा दिया. शाम में सुकट शर्मा दूध लेकर ब्लॉक मोड़ पर पहुंचाने जा रहा था, तभी हनुमानगढ़ी के युवकों की नजर पड़ी और उसे पकड़ कर बेरहमी से पिटाई की गयी. लहूलुहान स्थिति में साधु चौक के पास ले जाकर छोड़ गये. बाद में लोगों ने घायल सुकट को सदर अस्पताल पहुंचाया. शुक्रवार को उसकी हालत बिगड़ने लगी. दिन के 11 बजे डॉक्टरों ने रेफर कर दिया. अभी लोग गोरखपुर ले जाने की तैयारी में थे, तब तक उसकी मौत हो गयी. मौत के बाद आक्रोशित लोग हाइवे को जाम कर हत्यारों की गिरफ्तारी और मुआवजे की मांग पर अड़े हुए थे. एसडीओ ने काफी समझदारी से काम लेते हुए नियमानुकूल मुआवजा दिलाने की आश्वासन देकर लोगों को शांत कराते हुए हाइवे से जाम को हटवाया. तत्काल 20 हजार रुपये का मुआवजा प्रशासन ने उपलब्ध करा दिया. पुलिस गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है.

25_03_2016-25gpl7-c-2

LEAVE A REPLY