(आशुतोष तिवारी )

गोपालगंज : यह गाना यहाँ एकदम चरितार्थ हो रहा है कि न उम्र कि सिमा हो और न हो प्यार का बंधन , वही भोजपुरी में एक कहावत है कि “जब हम तू राजी त का करिहे काजी’’ यहा पति के नजरो के समाने ही पत्नी अपने आशिक के साथ फरार हो गयी , सकते में आया पति हाथ मलता रह गया. हालांकि पति ने तीन अपहर्ताओं को नामजद बनाते हुए अपहरण की प्राथमिकी दर्ज करायी है. सीवान जिले के बड़हरिया थाना क्षेत्र के धमहा टोला गांव के बलिंद्र राम की शादी नगर थाना क्षेत्र की चैन पट्टी के करिश्मा के साथ हुई थी. एक माह पूर्व 16 फरवरी, 2016 को शादी हुई थी. शादी के बाद विवाहिता पति के साथ ससुराल चली गयी.इधर होली करीब आने पर पति की जिद पर पति बलिंद्र राम अपनी पत्नी को लेकर 31 मार्च को ससुराल चैनपट्टी पहुंचा. दो दिन रहने के बाद अपनी पत्नी को लेकर वापस लेकर जाने के लिए निकला तथा पत्नी को रिक्शा पर बैठा कर बस स्टैंड को चला. इतने में जंगलिया चौराहे के समीप जैसे पहुंचा की उसकी पत्नी बहाने बना कर रिक्शा से उतर गयी.और सामने ही लगी एक बाइक पर जाकर बैठ गयी. वह अभी कुछ समझ पता कि इतने में बाइक पर सवार दो युवक उसकी पत्नी को लेकर भाग चले. वह शोरगुल मचाने लगा. इतने में अपहृताओं के एक साथी को लोगों ने पकड़ लिया तथा   पुलिस को सौंप दिया. पकड़ा गया युवक नगर थाना क्षेत्र के काकड़कुंड गांव का बबलु यादव बताया गया है. पीड़ित पति ने बबलु यादव सहित तीन लोगों के खिलाफ आरोपित बनाते हुए अपहरण की प्राथमिकी दर्ज करायी है.

41572love-couple-s_650_122915063735

LEAVE A REPLY