(प्रिंस उपध्याय )

प्रसासनिक चूक के कारण हुई मीरगंज कि घटनाIMG-20160415-WA0052IMG-20160415-WA0047

प्रशासन की थोडी सी लापरवाही से मीरगंज रणक्षेत्र मे तब्दील हो गया ।मौका था रामनवमी का , इस मौके पर हर जगह विभिन्न हिन्दू संगठनो द्वारा राम जनमोत्सव के  अवसर पर झांकी और जुलुस आयोजित किया जाता है ।जो कि अब प्रशासन से अनुमति लेकर ही किया जाता है । फिर क्यों प्रशासन हर संवेदनशील जगह पर पर्याप्त पुलिसबल की व्यवस्था  और किसी भी आपत्तिजनक स्थिति से निपटने की तैयारी नही कर पाता है ।और आज जो मीरगंज मे हुआ वह घटना बहुत दुर्भाग्यपुर्ण है।जहां प्रशासन की लापरवाही से उपद्रवियो ने कई दुकानों समेत  मोटरसाइकिल ,  ट्रेक्टर को आगे के हवाले कर दिया ।और प्रशासन चुपचाप मूकदर्शक बना रहा । वहा मौजूद लोगो के बातों पर अगर माने तो घटना के कुछ ही देर बाद वहा अनुमंडल पुलिस पधाधिकारी पहुचे लेकिन उनके मौके पर पहुचने के बाद भी उपद्रविय अपना उत्पात मचाते रहे और पुलिस मूकदर्शक बनी रही , अगर रामनवमी कि जुलुस प्रसासन कि मौजूदगी में निकाली जाती तथा जुलुस कि वीडियोग्राफी भी प्रसासन के तरफ से कराई जाती तो शायद आज इतनी बड़ी घटना न घटती , इस घटना के बाद दोनों पक्षों के बेगुनाह लोगो कि इस घटना का शिकार बनना पड़ा है ,  जहां पत्थरबाजी की घटना शुरू होने के बात माहौल बिगड गया और स्थिति विस्फोटक हो गई और वाहनो मे आग लगा दी गई , स्थिती बिगडऩे के बाद पहुंची पुलिस ने काफी मशक्कत करने के बाद स्थिति को अपने नियंत्रण मे लिया।

 

गोपालगंज/सीवान : बिहार के गोपालगंज के मीरगंज में दो गुटों के बीच पथराव से माहौल बिगड़ गया. उपद्रवियों ने वाहनों में तोड़फोड़ की व कई दुकानों को आग के हवाले कर दिया. हालांकि पुलिस मौके पर पहुंच स्थिति को नियंत्रित करने में कामयाब रही. वहीं, डीएम व एसपी ने शांति बहाली के लिए फ्लैग मार्च किया. डीएम राहुल कुमार ने कहा है कि उपद्रवियों की पहचान कर कार्रवाई शुरू कर दी गयी है. उधर, सीवान में भी शुक्रवार को रामनवमी के जुलूस के दौरान पथराव के बाद दिन भर तनाव बना रहा.
मीरगंज में जुलूस पर पथराव के बाद दो पक्षों के बीच हुई झड़प के बाद स्थिति विस्फोटक हो गयी तथा दोनों तरफ से तलवार व लाठी-डंडे निकाल लिये गये. इस दौरान सड़क पर खड़े वाहनों में उपद्रवियों ने आग लगा दी व सीवान-गोपालगंज एनएच- 85 पर वाहनों का परिचालन बाधित कर दिया. वहीं, मीरगंज थाना चौक और हथुआ मोड़ पर दुकानों में तोड़फोड़ के बाद कई दुकानों को आग के हवाले कर दिया.

दोनों पक्षों द्वारा की गयी रोड़ेबाजी में दर्जन भर लोगों को चोटें आयी हैं, जिन्हें निजी अस्पताल में भरती कराया गया है. उपद्रव की सूचना पर कई थानों से पुलिस को बुलानी पड़ी. डीएम राहुल कुमार व एसपी रवि रंजन कुमार मौके पर पहुंच स्थिति को नियंत्रित करने में जुटे गये तथा फ्लैग मार्च कर लोगों से शांति बनाये रखने की अपील की. स्थिति को देखते हुए सीवान समेत कई जिलों से अतिरिक्त पुलिस बल मंगायी गयी है.

स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए प्रशासन को हल्का बल प्रयोग भी करना पड़ा. देर शाम तक डीएम-एसपी के अलावा हथुआ एसडीएम प्रमोद राम, एसडीपीओ मो इम्तियाज अहमद, फुलविरया, उचकागांव व हथुआ समेत कई थानों के पुलिस अधिकारी कैंप किये हुए थे.

अफवाह से बचें, बख्शे नहीं जायेंगे उपद्रवी : डीएम
मीरगंज में उपद्रव की सूचना पर पहुंचे डीएम राहुल कुमार ने कहा कि अफवाह से सभी को बचने की जरूरत है. घटना में शामिल उपद्रवियों को किसी भी हाल में बख्शा नहीं जायेगा. प्रशासन द्वारा उपद्रव करनेवालों की वीडियोग्राफी करायी गयी है. तसवीर से एक-एक की पहचान कर कार्रवाई की जायेगी. देर शाम डीएम ने कहा कि स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है. संवेदनशील सभी इलाके में चौकसी बढ़ा दी गयी है. उन्होंने लोगों से शांति बनाये रखने की अपील करते हुए कहा कि जल्द ही उपद्रवियों को गिरफ्तार भी कर लिया जायेगा.

सीवान में रामनवमी जुलूस के दौरान उपद्रव
सीवान : सीवान में शुक्रवार को रामनवमी के जुलूस के दौरान पथराव के बाद दिन भर तनाव बना रहा. इस दौरान शरारती तत्वों की फायरिंग व आगजनी के बाद पुलिस ने कई चक्र हवाई फायरिंग की. वहीं, हल्का बल प्रयोग किया. देर शाम तक सड़कों पर अफरा-तफरी का माहौल बना रहा. इस दौरान दो बाइकों के अलावा दुकानें भी भीड़ ने आग के हवाले कर दिया. हालांकि, दुकान फूंके जाने और भीड़ के तरफ से फायरिंग की घटना से प्रशासन इनकार कर रहा है.
जुलूस के दौरान डीजे बंद करने को लेकर हुए विवाद में पथराव के बाद स्थिति तनावपूर्ण हो गयी. इसके आधा घंटे के बाद एक बार फिर नया किला मैदान के समीप दोनों पक्षों के लोग भिड़ गये पथराव शुरू हो गया. संख्या कम होने के कारण पुलिस तमाशबीन बनी रही. इसके बाद उपद्रवियों ने शहर के जेपी चौक, नया बाजार व थाना रोड में प्रदर्शन कर कई वाहनों के शीशे तोड़ डाले. देखते-ही-देखते पूरे शहर की दुकानें बंद हो गयीं.

आखिरकार मौके पर डीएम महेंद्र कुमार व एसपी सौरभ कुमार शाह के घटनास्थल पर पहुंचने के बाद पथराव बंद हुआ. उधर जुलूस शाम पांच बजे कागजी मुहल्ला चौक पर पहुंचा, तो एक बार फिर पथराव शुरू हो गया. इस पर पुलिस ने पथराव कर रहे लोगों को खदेड़ते हुए दर्जनों चक्र हवाई फायरिंग की. इस दौरान कई अन्य फायरिंग की भी आवाज सुनी गयीं.

हालांकि, पुलिस ने यहां कोई अन्य लोगों के तरफ से फायरिंग से इनकार किया. बड़ी मसजिद के पीछे दो बाइकों को उपद्रवियों ने आग के हवाले कर दिया. वहीं, तेलहट्टा बाजार में भी आगजनी की वारदात हुई. एसपी सौरभ कुमार साह ने कहा कि उपद्रवियों को नियंत्रित करने के लिए हल्का बल प्रयोग व हवाई फायरिंग की गयी. पूरे घटना का आकलन करने के बाद कानूनी कार्रवाई की जायेगी.

 

LEAVE A REPLY