हिमाचल प्रदेश-भारत सरकार के सौजन्य से आयोजित किया जा रहा है प्रशिक्षण

  • हिमाचल प्रदेश-बिलासपुर, 23 अप्रैलः समाजिक, न्याय एवं अधिकारिता विभाग के अन्तर्गत निदेशालय महिला एवं बाल विकास हिमाचल प्रदेश के सौजन्य से जिला बिलासपुर में प्रारम्भिक बाल शिक्षा व देखभाल ;म्ब्ब्म्द्ध पाठयक्रम के अन्तर्गत जिला स्तरीय मास्टर टनर हेतू दिनाॅंक 19-4-2016 से 23-4-2016 तक 5 दिवसीय प्रशिक्षण  ;प्रथम चरणद्ध का आयोजन किया गया जिसमें डाॅ0 ओंकार  सिंह ठाकुर कार्यक्रम अधिकारी निदेशालय महिला एवं बाल विकास हि0 प्र0 व श्रीमति सुमन रानी राज्य समन्वयक ;त्ड।द्ध ने राज्य स्तरीय मास्टर ट्नर स़्त्रोतर व्यक्ति  ; त्मेवनतबम च्मतेवदद्ध भाग लिया । उनके द्वारा जिला स्तरीय 20 मास्टर ट्रेनर ;बाल विकास परियोजना अधिकारी व पर्यवेक्षकद्ध  को प्रारम्भिक बाल शिक्षा व देखभाल ;म्ब्ब्म्द्ध पाठयक्रम के अन्तर्गत प्रशिक्षित किया गया । डाॅ0 ओंकार सिंह ठाकुर कार्यक्रम अधिकारी निदेशालय महिला एवं बाल विकास हि0 प्र0 ने बताया कि प्रशिक्षित मास्ट्र ट्नर जिला बिलासपुर में कार्यरत  अन्य आईसीडीएस पर्यवेक्षकों तथा सभी आॅंगनवाडी कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित  करेगें। आॅंगनवाडी स्तर तक का प्रशिक्षण कार्यक्रम 30-9-2016 तक  पूरा कर लिया जायेगा। यह प्रशिक्षण  कार्यक्रम पूरे भारतवर्ष में महिला एवं बाल विकास मंत्रालय भारत सरकार के सौजन्य से आयोजित किया जा रहा है इस प्रशिक्षण का मुख्य उददेश्य म्ब्ब्म् की गतिविधियों में गुणवता लाना तथा पूरे प्रदेश में गतिविधियों के आयोजन हेतू एकरूपता लाना है।  12 माह के लिये विभाग ने अलग-अलग विषयवस्तु ;जीमउमद्ध निर्धारित की गई है उसके बाद प्रतिमाह के चार सप्ताह के अन्दर  उस विषयवस्तु के  नियम निर्धारित किये हैं तथा वर्ष के प्रत्येक दिन की गतिविधियों को सूचीबद्ध किया गया है। इस प्रकार पूरे प्रदेश में प्रतिदिन सभी   आॅंगनवाडी केंद्रों में एक जैसी गतिविधियाॅं आयोजित की जायेगीं । इस कार्ययोजना की 12 बुकलेट सभी केंद्रों में उपलब्ध होगी। आॅंगनवाडी केंद्रों को प्रतिवर्ष मुबलिक 3000/-रूपये की शालापूर्व शिक्षा सामग्री की किट प्रदान की जा रही है तथा इस प्रशिक्षण में उन्हें स्थानीय समुदाय तथा बच्चों के अभिभावकों की अधिक भागीदारी म्ब्ब्म् गतिविधियों को आयोजित करने बारे भी प्रशिक्षण दिया गया

LEAVE A REPLY