सुनामी ब्यूरो चीफ @ बलौदाबाज़ार
कसडोल विकास खण्ड के गांव गांव मे खुलेआम शराब की अवैध बिक्री कोचियों के माध्यम से कराई जा रही है।ग्रामीणों एवं पंचायत प्रतिनिधियों के विरोध के बावजूद नहीं रुक रही शराब की अवैध बिक्री ।क्षेत्रवासियों ने विधान सभा अध्यक्ष सहित शासन प्रशासन से अवैध शराब की बिक्री पर तत्काल रोक लगाने की मांग की है।
       कसडोल विधान सभा क्षेत्र के विधायक एवं छत्तीसगढ़ विधान सभा के अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल    जब से विधायक बने हैं तब से कसडोल क्षेत्र के गांव गांव मे हो रहे अवैध शराब बिक्री पर रोक लगाने लगातार प्रयास कर रहे हैं तथा इसके लिए वे बकायदा आम लोगों को जागरूक भी कर रहे हैं।अपने अपने गांव मे शराब बन्दी कराने वाले महिला समूहों को उनके द्वारा पुरस्कृत भी किया जा रहा है।एक तरफ विधान सभा अध्यक्ष द्वारा क्षेत्र मे शराब बन्दी के जी तोड़  प्रयास किए जा रहे हैं तो वहीँ दूसरे तरफ नगर एवं क्षेत्र मे शराब दुकान संचालित कर रहे शराब माफियाओ द्वारा क्षेत्र के गांव गांव खुलेआम शराब की अवैध बिक्री कराई जा रही है।विधान सभा अध्यक्ष की प्रेरणा से जिन गांव  मे पिछले डेढ़ दो साल से शराब बिक्री बन्द थी ,शराब माफियाओं द्वारा इस साल वहां भी ग्रामीणो को प्रलोभन देकर या डरा धमका कर शराब बिकवाने का प्रयास किया जा रहा है।स्थानीय पुलिस प्रशासन एवं आबकारी विभाग के अधिकारी कर्मचारी के संरक्षण मे शराब माफियाओं के हौसले इतने बुलंद हो गये हैं कि उन पर विधान सभा अध्यक्ष के आदेश निर्देश का कोई असर नहीं पड़ रहा है।शराब माफियाओं के शह पर ही गांव गांव मे शराब बेचने वाले कोचियों के हौसले भी इतने बुलंद है कि वे अवैध शराब बिक्री का विरोध करने वाले ग्रामीणो एवं महिलाओं को खुलेआम देख लेने की धमकी देते हैं।अंचल के सुप्रसिद्ध दर्शनीय स्थल मातागढ़ तुरतुरिया एवं बार नवापारा अभ्यारण्य जानें के मुख्य मार्ग मे पड़ने वाले परसदा तथा पैरागुड़ा मे फिरत राम कैवर्त्य, ठाकुरदिया और पुटपुरा मे कोंदा नाम के व्यक्ति द्वारा खुलेआम अवैध रूप से शराब की बिक्री कराई जा रही है।ग्राम बोरसी मे लोमस यादव मुख्य मार्ग मे शराब बेच रहा है।बोरसी के ग्रामवासियों ने अवैध शराब बन्द करने अनेकों बार गांव मे बैठक कर अवैध शराब बिक्री पर पूरी तरह से रोक लगाने के लिए कह दिया ,परन्तु पुरे गांव के लोगों की बातों को अनसुनी करते हुए उसने बन्दकरने से स्पष्ट मना कर दिया।इसी तरह ग्राम पीपरछेड़ी निवासी रामविशाल कैवर्त्य ने गांव की बात नहीं मानी तो ग्रामीणो ने शराब सहित पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया था अब गांव मे शराब बन्द है परन्तु पड़ोस के गांव रींवसरार मे गांव के सम्पन्न परिवार के व्यक्ति द्वारा खुलेआम शराब बिक्री कराई जा रही है रींवासरार मे अवैध शराब बेचने वाले व्यक्ति के सम्बन्ध मे बताया जाता है कि रींवा सरार सहित आसपास के गांव मे उसका आतंक है तथा वह लोगों को हमेशा डराते धमकाते रहता है।अवैध शराब बिक्री से गांव एवं घर घर के बिगड़ते महौल को देखते हुए क्षेत्र वासियों ने विधान सभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल एवं शासन प्रशासन से अवैध शराब बिक्री पर शीघ्र रोक लगाने की मांग की है।

LEAVE A REPLY