ब्यूरो चीफ छत्तीसगढ़
सुकमा । लोक सुराज अभियान के दूसरे दिन मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह अचानक घोर नक्सल प्रभावित सुकमा जिले के भेज्जी-इंजरम के बीच बनने वाली सडक़ का निरीक्षण करने साइकिल से पहुंचे। यह इलाका सबसे ज्यादा संवेदनशील माना जाता है। नक्सली उत्पात के चलते यहां लोगों की आवाजाही भी कम है। साथ ही इस मार्ग को बनाने में नक्सली कई व्यवधान डाल रहे हैं। इसलिए इस सडक़ का निर्माण सुरक्षा बलों की निगरानी में किया जा रहा है, लेकिन नक्सलियों द्वारा समय-समय पर किए गए बम विस्फोट की वजह से इस मार्ग पर उनका मुकाबला करते हुए अब तक 8 जवान शहीद हो चुके हैं।CM ने आज मोटर साईकिल में सड़क मार्ग का निरीक्षण कर सुरक्षा बलों और ग्रामीणों का हौसला भी बढ़ाया। लोक सुराज अभियान के दूसरे दिन मुख्यमंत्री सवेरेहेलीकाप्टर से अचानक भेज्जी में उतरे थे। मुख्यमंत्री ने आज भेज्जी-इंजरम मार्ग का निरीक्षण करते हुए कहा कि जिस सड़क के निर्माण में हमारे 8 बहादुर जवानों नेअपने प्राणों की आहूति दी है, उनकी शहादत का सम्मान करते हुए इस सड़क का निर्माण हर हाल में पूर्ण किया जाएगा, ताकि क्षेत्र के लोगों को आवागमन की बेहतर सुविधा मिल सके।इस गांव से लगा हुआ ताड़मेटला भी है, जहां कुछ साल पहले नक्सलियों का मुकाबला करते हुए केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के 76 जवान शहीद हो गए थे। डॉ. रमन सिंह ने अधिकारियों को भेज्जी-इंजरम सड़क निर्माण तत्परता से अगले तीन-चार माह के भीतर पूर्ण करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके बन जाने पर आस-पास के लगभग 50 गावों की जनता को बारहमासी आवागमन की सुविधा हो जाएगी ।

LEAVE A REPLY