हिमाचल प्रदेश :खेल राजनीतिक क्षेत्र नहीं ,नहीं मांगी लिखित में सुरक्षा -मुख्यमंत्री

 

मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने शनिवार को आनी के च्वाई में पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि धूमल परिवार एचपीसीए को अपनी निजि संपति समझता है। धर्मशाला में आईपीएल मैचों के आयोजन के लिए कभी भी एचपीसीए ने प्रदेश सरकार से मैचों को लेकर लिखित सुरक्षा की  मांग नहीं की। मुख्यमंत्री ने कहा यदि एचपीसीए  लिखित सुरक्षा मांगते तो  लिखित में दे देते। उन्होंने कहा कि अनुराग ठाकुर उन्हें बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं। इससे पूर्व टी-20 विश्व कप का पाकिस्तान के साथ होने वाला मैच स्थानांतरित हुआ उसकी मांग शहीद सैनिकों के परिजनों ने की थी जबकि सरकार ने उस समय भी सुरक्षा की पूरी गारंटी दी थी। सरकार का इसमें कोई रोल नहीं था। उन्होंने कहा कि धर्मशाला में होने वाले मैच के लिए किग्स इलेवन पंजाब की ओर से प्रिटी जिंटा ने उनसे धर्मशाला के लिए सुरक्षा देने और मैच में आने का न्यौता दिया था जो प्रदेश सरकार ने माना था। उन्होंने कहा कि खेल राजनीतिक क्षेत्र नहीं है, खेलों पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। भाजपा शोर मचाने में अधिक विश्वास रखती है जबकि काम करने में दिलचस्पी नहीं लेती।

LEAVE A REPLY