नालंदा जिला के नोरजपुर गांव में एक युवक ने कर्ज लिया. जब वह महाजन को पैसे नहीं लौटा सका तो उसने अपनी पत्नी और बच्चों को उसे सौंप दिया. लगभग एक हफ्ते पहले हुई इस घटना के बारे में गांव के लोग कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हैं.

कर्ज के बदले पत्नी को बच्चों को देने का प्रस्ताव
खबर के मुताबिक हिमांशु प्रसाद सुमन नाम के युवक ने अपना स्टूडियो खोलने के लिए गांव के ही साहूकार सावन कुमार से चार लाख रुपये कर्ज लिया था. बाद में सुमन ने एक युवती से प्यार किया और उससे शादी कर ली. लेकिन इस प्यार मुहब्बत के दौर में उस पर कर्ज का ब्याज भी बढ़ता गया. साहूकार ने जब उस पर कर्ज वापस करने का दबाव डाला तो उसने अपनी पत्नी और दो बच्चों को ही कर्ज के बदले देने का प्रस्ताव रखा जिसे साहूकार ने स्वीकार कर लिया.

दोनों की सहमति के बाद सुमन ने अपनी पत्नी की शादी सवान कुमार से करा दी और बच्चों के साथ पत्नी को विदा कर दिया. ये घटना पूरे इलाके में जंगल की आग की तरह फैल गई लेकिन गांव के लोग इस पर कुछ बोलना नहीं चाहते हैं.

कर्ज के बहाने मिला पत्नी से छुटकारा
चार साल पहले हिमांशु ने सावन कुमार से कर्ज लिया था. पहले उसने एक लाख कर्ज दिया फिर बाद में यह रकम बढ़ती गई. कर्ज लेने देने के चक्कर में सावन कुमार का हिमांशु के घर आना जाना भी था. बताया जाता है कि सावन कुमार और हिमांशु की पत्नी के बीच नजदीकियां थीं. हिमांशु ने कर्ज चुकाने के बहाने यह दाव खेला जिससे उसका कर्ज भी चुकता हो गया और पत्नी और सावन कुमार के संबंध से भी उसे छुटकारा मिल गया.

बिना तलाक दिए कराया पत्नी का विवाह
इन सबके बीच एक कानूनी पहलू भी है हिमांशु ने बिना तलाक दिए अपनी पत्नी की शादी सावन कुमार से करार दी. वो भी कोर्ट मैरिज ऐसे में मामला कानूनी पेचेदगी में फंस सकता है. हांलाकि सारे थाने के अंतर्गत आने वाले इस गांव के लोग कुछ बोलने को तैयार नहीं हैं. इस घटना की पुलिस को कोई जानकारी नहीं है.

indian_wedding_s_650_050616063644

LEAVE A REPLY