गोपालगंज : पंचायत चुनाव के पांचवें चरण में मंगलवार को छिटपुट हिंसा की घटनाओं के बीच 65 फीसदी मतदान हुआ. मतदान के दौरान गोपालगंज के सदर प्रखंड की जगरी टोला पंचायत में खाप मकसुदपुर, कटघरवा के चलंत मतदान केंद्र पर दो पक्षों के बीच तनातनी से बिगड़ रही स्थिति को संभालने पहुंचे सुपर जोनल के प्रभारी एसडीओ मृत्युंजय कुमार, एसडीपीओ मनोज कुमार एवं पुलिस अधिकारियों के साथ ग्रामीणों में जम कर मारपीट हुई. पुलिस के डंडे से पूर्व सरपंच बंगाली बिंद के घायल होने पर आक्रोशित ग्रामीणों ने पुलिस टीम पर हमला कर दिया. महिलाओं ने दौड़ा-दौड़ा कर पुलिसकर्मियों को पीटा. ग्रामीणों के आगे पुलिसकर्मी लाचार थे. अंतत: पुलिस को हवाई फायरिंग कर जान बचानी पड़ी. झड़प में सब इंस्पेक्टर शैलेंद्र कुमार समेत आधा दर्जन पुलिसकर्मी घायल हो गये. लोगों ने मतपेटी को भी लूटने का प्रयास किया गया. घटना की सूचना पर पहुंचे डीएम राहुल कुमार और एसपी रविरंजन कुमार ने किसी तरह स्थिति को काबू में किया. दो घंटे के बाद फिर से मतदान शुरू हो सका. प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि खाप मकसुदपुर, कटघरवा में मतदान केंद्र संख्या 166 से 171 तक कुल छह मतदान केंद्र दोनों तटबंधों के बीच में बनाये गये थे, जहां कुचायकोट के सीओ अमित रंजन तथा एसआइ शैलेंद्र कुमार सेक्टर पदाधिकारी के रूप में तैनात थे. इस पंचायत में कुख्यात रहे सुरेश यादव की पत्नी रमावती देवी तथा राजेश कुमार मुखिया के प्रत्याशी हैं. दोनों पक्षों से मतदाता दोनों तरफ तटबंध पर जमे हुए थे. नशे में धुत कुछ लोग एक दूसरे पर आरोप लगा रहे थे. इस तनातनी की सूचना सीओ ने एसडीओ को दी. एसडीओ एसडीपीओ के साथ दिन के 11.30 बजे मतदान केंद्र पर पहुंचे. मतदान केंद्र पर पहुंचते ही लोगों को खदेड़ने लगे. इस बीच पूर्व सरपंच बंगाली बिंद को पुलिस को डंडा मारा, जिससे उसका सिर फट गया. सिर फटते ही खून का फव्वारा देख लोगों का आक्रोश फूट गया. महिलाएं लाठी-डंडा लेकर पुलिसकर्मियों पर टूट पड़ीं. अफरा-तफरी के बीच पुलिस और ग्रामीणों के बीच जम कर लाठियां चलीं. इस घटना में सब इंस्पेक्टर शैलेंद्र कुमार, मो नसीमुद्दहन, घनश्याम तिवारी, सेराजुल हक समेत दर्जन भर जवान घायल हो गये, जबकि ग्रामीण शांति देवी, फुलिया मुसम्मात, सुनपति, कौशल्या देवी को पुलिस कस्टडी में सदर अस्पताल लाया गया है. अन्य का इलाज स्थानीय निजी क्लिनिक में चल रहा है. हालांकि डीएम ने बताया कि दो गुटों के बीच आपसी विवाद था. स्थिति सामान्य है. शांतिपूर्ण तरीके से चुुनाव हो रहा है. मतदान खत्म होने के बाद पटना में राज्य निर्वाचन आयुक्त अशोक कुमार चौहान ने प्रेस काॅन्फ्रेंस में बताया कि मतदान बाधित होने के कारण तीन बूथों पर पुनर्मतदान कराने का निर्देश दिया गया है. मतदान के दौरान 492 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिसमें जमुई जिले के खैरा प्रखंड में फरियट्टा सामुदायिक मतदान केंद्र संख्या 125 पर प्रतिनियुक्त पीठासीन पदाधिकारी मो फिरोज भी शामिल हैं. मतदान के दौरान सीतामढ़ी जिले के कन्हौली थाने की भलुआ पंचायत के बूथ संख्या 58 पर रामनगरा रसलपुर पर सीतामढ़ी के डीएम के अंगरक्षक द्वारा मुखिया प्रत्याशी बिलट यादव को बूथ पर गड़बड़ी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया. विरोध में उनके समर्थकों द्वारा रोड़ेबाजी करने के कारण पुलिस को हवाई फायरिंग करनी पड़ी.

 

राज्य निर्चवाचन आयुक्त ने बताया कि जिन बूथों पर पुनर्मतदान कराया जायेगा, उसमें गया के डोभी प्रखंड की बूथ संख्या 128 पर गश्ती दल के दंड़ाधिकारी द्वारा पंच बैलेट पेपर गायब हो गया. डीएम को जांच करने का निर्देश देते हुए वहां पर पुनर्मतदान कराने का निर्देश दिया गया है. इसी तरह से गया जिले के वजीरगंज प्रखंड की बूथ संख्या 163 पर बैलेट बाक्स में पानी डाल दिया गया. इसी तरह से औरंगाबाद जिले के बारूण प्रखंड की बूथ संख्या 130 पर डीएम व एसपी को सूचना मिली कि मतदान के बाद कुछ लोगों की अंगूली में स्याही नहीं लगाया जा रही है और कुछ लोगों को बिना पहचान पत्र के ही मतदान करने दिया जा रहा है. इसे देखते हुए वहां पर फिर से मतदान कराने का निर्देश दिया गया है.

 

उन्होंने बताया कि नालंदा जिले के मतदान के दौरान झड़प से खुदागंज थाने के परशुराय के बूथ नंबर 76 व 77 पर लाइन लगने के दौरान स्टैटिक पुलिस बल अवर निरीक्षक संजय कुमार व मतदाताओं के बीच मारपीट हो गयी. इससे अवर निरीक्षक मामूली रूप से जख्मी हो गये. कटिहार जिले के कोढ़ा थाने की बूथ संख्या 152 पर जिला सिपाही बल के मनीष कुमार को मतदाताओं के आरोप पर मतदान में अनियमितता बरतने के आरोप में चुनाव कार्य से हटा दिया गया.

 

सारण जिले के खैरा थाने के बूथ नंबर 34 व 35 पर मुखिया प्रत्याशी अजय सिंह व गुड्डु सिंह के बीट झड़प हो गयी. अरवल जिले में सोनभद्र पंचायत के बूथ संख्या 44 पर बोगस वोटिंग नहीं करने देने से नाराज होकर सेक्टर मजिस्ट्रेट के वाहन पर पत्थर फेंका गया, जिससे उनके वाहन का शीशा क्षतिग्रस्त हो गया. पूर्णिया जिला के दो पंचायत समितियों के समर्थकों के बीच मारपीट में महिलाओं सहित कुछ लोगों के जख्मी हो गये हैं.

 

10_05_2016-10gpl22-c-2 10_05_2016-10gpl27-c-2

LEAVE A REPLY