रोहतांग दर्रा के लिए अब जा सकेंगे 1200 पर्यटक वाहन-

एनजीटी ने दी 800 पैट्रोल व 400 डीजल वाहनों को अनुमति-

रोहतांग दर्रा में सिर्फ कुल्लवी ड्रेस में हो सकेगी फोटोग्राफी-

राजीव कुल्लू ब्यूरो-

लगभग एक साल से रोहतांग दर्रे के साथ लगते पर्यटन स्थलों सोलंग नाला, मढ़ी, कोठी और गुलाबा सहित अन्य पर्यटन स्थलों पर होने बाली पर्यटन से सम्बन्धित गतिविधियों को नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने बन्द कर दिया था। जिसके कारण घाटी के लगभग दस हजार लोगों को रोजी रोटी के लाले पड़ गए थे और मनाली बर्फ की चाह में आने वाले पर्यटकों को बर्फ का दीदार करना मुशकिल हो गया था। परन्तु आज एनजीटी ने रोहतांग मामले पर अपने अहम फैसले दिए हैं जिस पर मनाली के पर्यटन कारोबारियों ने राहत की सांस ली है। विश्व प्रख्यात पर्यटन स्थल रोहतांग दर्रा को लेकर नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने बड़ा फैसला सुनाया है। एनजीटी के इस फैसले से पर्यटन कारोबारियों और टैक्सी चालकों को राहत मिली है। एनजीटी ने अपने फैसले में 800 पेट्रोल और 400 डीजल वाहनों को रोहतांग दर्रा जाने की अनुमति दी है। रोहतांग दर्रा में कुल्लवी ड्रेस के साथ फोटोग्राफी की भी अनुमति दी गई है। इसके अलावा अन्य कोई भी व्यवसायिक गतिविधियां रोहतांग दर्रा में नहीं की जा सकेंगी। हालांकि गुलाबा, मढ़ी समेत अन्य जगहों में व्यवसायिक गतिविधियां दोबारा शुरू करने के लिए एनजीटी ने राहत दी है। एनजीटी की बेंच में चेयरपर्सन न्यायधीश स्वतंत्र कुमार, जूडिशियल मेंबर न्यायधीश एमएस नंबियर, एक्सपर्ट मेंबर प्रो. एआर यूसूफ, एक्सपर्ट मेंबर बिक्रम सिंह साजवान ने यह फैसला सुनाया है। एनजीटी ने सोलंगनाला और मढ़ी में पैराग्लाइडिंग के लिए अनुमति प्रदान कर दी है। लेकिन पैराग्लाइडिंग के दौरान यहां सफाई व्यवस्था का विशेष ध्यान रखने के आदेश दिए हैं। प्रशासन को इन स्थानों में इको फ्रेंडली शौचालय स्थापित करने होंगे और इन्हें रोजाना साफ करने के आदेश दिए हैं। चिन्हित रूटों पर 200 घोड़े चलाने की भी अनुमति दी गई है। लेकिन रोजाना घोड़ों की लीद उठानी होगी। अवेहलना करने पर पांच हजार रुपये जुर्माना किया जाएगा। रोहतांग में केवल कुल्लवी ड्रेस के साथ फोटो ग्राफी की जा सकेगी। कुल्लवी ड्रेस किराये पर देने की एनजीटी ने अनुमति प्रदान की है। इन्हें लाइसेंस जारी किए जाएंगे। एनजीटी ने 50 स्नो स्कूटर ब्यास नाला से सागू फॉल और गुलाबा में चलाने की अनुमति दी है। यहां केवल फोर स्ट्रोक स्नो स्कूटर ही चलाए जा सकेंगे। टू स्ट्रोक स्नो स्कूटर से अधिक प्रदूषण होने के कारण इन्हें यहां चलाने की अनुमति नहीं दी गई है। 50 एटीवी सोलंग से बाहंग, मढ़ी से सागू फॉल चलेंगे। एनजीटी ने रोहतांग पास में तीस इको फ्रेंडली शौचालय स्थापित करने के आदेश दिए हैं। व्यवसायिक गतिविधियों वाले स्थानों पर एनजीटी ने सफाई को लेकर सख्त आदेश दिए हैं और सॉलिड वेस्ट न फैलाने की हिदायत दी है।

LEAVE A REPLY