दर्रे में पर्यटन गतिविधियां चलाने को पहचान पत्र का होना अनिवार्य-

उपायुक्त कुल्लू एच. आर. चैहान ने एनजीटी के आदेशों से करवाया अवगत-

राजीव ब्यूरो कुल्लू-

गर्मियों में देशी-विदेशी सैलानियों को बर्फ के दीदार करवाने वाले रोहतांग दर्रे में अब व्यवसायी बिना पहचान पत्र के अपनी गतिविधियों को नहीं चला सकेंगे। पर्यटन गतिविधियां चलाने के लिए उन्हें पर्यटन विभाग से पहचान पत्र प्राप्त करने होंगे। एनजीटी के आदेशों का सख्ती से पालन करते हुए  धरातल पर उतारा जाएगा। कुल्लू के उपायुक्त एचआर चैहान ने मनाली के मिनी सचिवालय में पर्यटन व्यवसायियों द्वारा आयोजित बैठक में कहे। उन्होंने पर्यटन व्यवसायियों को एनजीटी के आदेशों से अवगत करवाया और एनजीटी के आदेशानुसार ही पर्यटन गतिविधियां चलाने की बात कही। उन्होंने कहा कि दर्रे में गंदगी सहन नहीं की जाएगी। हर एक पर्यटन व्यवसायी की सहभागिता सुनिश्चित की जाएगी। उन्होंने कहा कि शुक्रवार को प्रशासन रोहतांग दर्रे का दौरा करेगा और बीआरओ संग विचार विमर्श करने के बाद ही रोहतांग को सैलानियों के लिए बहाल किया जाएगा। चैहान ने कहा कि पर्यटकों से धांधली करने वाले पर्यटन व्यवसायी पर कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। उन्होंने कहा कि सैलानी अब अपने वाहनों में भी रोहतांग जा सकेंगे। टैक्सी आपरेटरों सहित सैलानी रोहतांग जाने के लिए आन लाइन परमिट प्राप्त कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि आन लाइन पोर्टल तैयार है। रोड निरीक्षण के बाद सैलानी आन लाइन पोर्टल द्वारा परमिट प्राप्त कर सकेंगे। इस दौरान एडीएम विनय ठाकुर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एनएस नेगी, एसडीएम ज्योति राणा, डीटीडीओ रतन गौतम, डीएसपी पुनीत रघु, होटलियर्ज एसोसिएशन के अध्यक्ष अनूप राम ठाकुर, विंटर गेम्स फेडरेशन आफ इंडिया के महासचिव रोशन ठाकुर ने भी बैठक में अपने विचार रखे। बैठक में पर्यटन से जुड़े सरकारी व गैर सरकारी संगठनों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

2…फसल बीमा के लिए निर्धारित की गई अंतिम तिथियां-

कुल्लू जिला में मक्की, धान, टमाटर, मटर व आलू का होगा बीमा-

राजीव ब्यूरो कुल्लू-

इस वर्ष के खरीफ सीजन में कुल्लू जिला में मक्की, धान, टमाटर, मटर और आलू को फसल बीमा योजना में शामिल किया गया है। फसल बीमा योजना जिला के सभी विकास खंडों में आरंभ की गई है लेकिन टमाटर का बीमा केवल कुल्लू, नग्गर और निरमंड विकास खंड में ही किया जाएगा। अन्य चार फसलों की बीमा योजना पूरे जिले में लागू होगी। कृषि विभाग के उपनिदेशक डा. राजेंद्र वर्मा ने बताया कि मटर का बीमा करवाने के लिए अंतिम तिथि 14 मई, आलू 31 मई और टमाटर, धान व मक्की के लिए अंतिम तिथि 31 जुलाई निर्धारित की गई है। मटर, टमाटर व आलू का बीमा आईसीआईसी लोम्बार्ड कंपनी द्वारा किया जाएगा। टमाटर की प्रीमियम दर 18 प्रतिशत, मटर 8 प्रतिशत और आलू की प्रीमियम दर साढे नौ प्रतिशत तय की गई है। डा. राजेंद्र वर्मा ने बताया कि जिले में धान और मक्की का बीमा इफको टोक्यो कंपनी करेगी। इन दोनों फसलों की प्रीमियम बीमा दर एक प्रतिशत निर्धारित की गई है।

फसल बीमा योजना के संबंध में अधिक जानकारी हासिल करने के लिए किसान अपने नजदीकी बैंक शाखा या कृषि विभाग के विषय वाद विशेषज्ञ से संपर्क कर सकते हैं। कृषि उपनिदेशक ने जिला के सभी किसानों से फसल बीमा योजना का लाभ उठाने की अपील है।

LEAVE A REPLY