(शैलेश कुमार पाण्डेय )

सिवान : हिन्दुस्तान अखबार के सीवान के ब्यूरो चीफ राजदेव रंजन की सरेशाम गोली मारकर हत्या कर दी गई. अपराधियों ने स्टेशन रोड फल मंडी के पास पत्रकार को गोली मारी. घायल अवस्था में उन्हें अस्पताल लाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया. एसपी सीवान सौरभ कुमार साह ने बताया कि अपराधी मोटरसाइकिल पर थे. अपराधियों की संख्या कितनी थी, यह अभी स्षष्ट नहीं हो सका है. पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है. बताया जा रहा है कि राजदेव रंजन अपने कार्यालय से निकलकर घर की ओर जा रहे थे, तभी अपराधियों ने ताबड़तोड़ गोली मारकर हत्या कर दी. अपराधियों ने राजदेव रंजन को बिल्कुल नजदीक से गोली मारी. जानकारी के मुताबिक इसके पहले भी उन्हें कुछ लोगो से धमकी मिली थी. अब उनकी हत्‍या कर दी गई. पुलिस मौके पर पहुंचकर जांच कर रही है. राजदेव रंजन पिछले 12 सालों से प्रत्रकार के रूप में काम रहे थे. हत्या के कारणों का फिलहाल कोई पता नहीं चल पाया है, जबकि पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है. राजदेव सीवान में अखबार के ब्यूरो चीफ थे और वारदात के वक्त कार्यालय से ही वापस लौट रहे थे. बताया जाता है कि देर शाम करीब आठ बजे टाउन थाना क्षेत्र के ओवरब्रिज के निकट अज्ञात अपराधियों ने उन्हें गोली मार दी.

गुरुवार को थी शादी की सालगिरहIMG-20160513-WA0017
पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, एक गोली राजदेव के सिर में जबकि दूसरी उनके गर्दन में लगी. गोली मारने के बाद अपराधी फौरन वहां से फरार हो गए, जबकि गंभीर रूप से जख्मी हालत में पुलिस राजदेव को अस्पताल ले गई. 42 वर्षीय राजदेव रंजन सीवान के महादेवा मिशन कंपाउंड मोहल्ले में रहते थे. गुरुवार को ही उनकी शादी की सालगिरह थी. मामले की जांच के लिए जिला एसपी सौरभ कुमार साह घटनास्थल पर पहुंच गए हैं.

इधर गोली चली, उधर सियासत शुरू
दूसरी ओर, पत्रकार की हत्या मामले में बीजेपी ने नीतीश सरकार को निशाने पर लिया है. बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन ने ट्विटर पर लिखा है, ‘राजदेव रंजन निर्भीक होकर लिखने वाले पत्रकार थे. बहुत दुख हुआ सुनकर कि उनकी हत्या कर दी गई. यह जंगल राज नहीं, महा जंगल राज है.’

सीवान के हिन्दुस्तान अखबार के ब्यूरो चीफ राजदेव रंजन की हत्या। नितीश बनारस घूम रहे हैं और बिहार में लोकतंत्र का चौथा स्तंभ खतरे में है।

 

 

LEAVE A REPLY