सुनामी न्यूज़ सवाददाता अमित सेन गुप्ता ।

मप्र का अनुपपुर जिला आजादी के 68 साल बीत जाने के बाद भी बिजली, सड़क और पानी की सुविधा से कई गांव कोसो दूर हैं। ऐसा ही एक गांव अनूप पुर  जिला के विकासखंड कोतमा पेज हटोला  गांव में आज तक बिजली नहीं आई है। इसकी वजह से गांव के सभी युवा लड़के पिछले सात साल से कुंवारे बैठे हैं। बिजली नहीं होने का असर अब युवाओं की जीवन शैली पर भी पड़ने लगा है। गांव के नौजवानों को अब पीएम मोदी से काफी उम्मीदें हैं। मोदी ने बीते स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले की प्राचीर से वादा किया था कि  वे भारत के एक-एक गांव में बिजली पहुंचाएंगे। अब इन कुंवारों के सिर पर सहरा तभी बंधेगा, जब गांव में बिजली आएगी।मिली जानकारी के अनुसार, पेज हटोला गांव को बसे हुए 300 साल से भी ज्यादा हो गए हैं। गांवमें पिछड़े वर्ग की संख्या काफी ज्यादा है और आबादी करीब 700 है। इनमें पुरुषों की संख्या करीब 500 और महिलाओं की संख्या 200 है। गांव में करीब 30 युवा ऐसे हैं जिनकी शादी की उम्र हो गई है। वहीं, पिछले सात साल से गांव में शहनाई तक नहीं बजी है। इसकी एक खास वजह ये है कि गांव में बिजली नहीं है।गांव की कार्यवाहक महिला ग्रामप्रधान ने सुनामी न्यूज़ को  बताया कि अलग-अलग पार्टी की सरकार का आना-जाना लगा रहा, लेकिन किसी ने भी इस गांव की ओर ध्यान नहीं दिया। शिवराज सरकार के 3 कार्यकाल पुरे हो रहे है इसके बावजूद यहां बिजली नहीं आई। शासन-प्रशासन ने भी ग्रामीणों की कभी मदद करने की कोई कोशिश नहीं की।गांव के कुंवारे लड़कों में एक डर बैठ गया है कि अब कभी उनकी शादी होगी। पिछले सात साल से गांव में शादी की शहनाई नहीं बजी है। गांव के 90 फीसदी युवा लड़के इंटर पास हैं, लेकिन शादी के लिएकोई रिश्ता नहीं आता। कोई भी रिश्तेदार गांव में आने से पहले पूछता है कि क्या गांव में बिजली है। वहीं, बिजली नहीं होने की वजह से कोई भी मां-बाप अपनी बेटी की शादी यहां नहीं करना चाहता है। युवाओं के चेहरे पर शादी न होने के दर्द साफ दिखता है।

अब देखना ये है की ईस खबर के बाद अगला कदम क्या होगा ।

ये है सुनामी न्यूज़ टीवी की आवाज कब मिलेगा इस गाव को इन्साफ ।20160515072932

LEAVE A REPLY