सुनामी ब्यूरो कसडोल ,

युवराज यादव ।20160516205804

शासन एवं प्रशासन द्वारा अवैध शराब बिक्री  तथा सट्टे पर पूरी तरह नियंत्रण करने के सख्त निर्देश के बाद भी शासन के मातहत सम्बन्धित विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारीयों के उदासीन रवैये के चलते गाँव गाँव मे अवैध शराब की बिक्री शराब माफियाओं द्वारा कोचियों के माध्यम से खुलेआम कराया जा रहा है।अवैध शराब बिक्री से वैसे भी क्षेत्रवासी पहले से ही परेशान हैं तथा इस पर पाबंदी लगाने गांव गांव की महिलाओं का संगठन शासन प्रशासन मांग कर रहे हैं।कसडोल विकासखण्ड का गिधौरी एक ऐसा स्थान है जहां अवैध शराब के साथ साथ सट्टे का धंधा भी खुलेआम चल रहा है।बलौदाबाजार जिले मे अभिषेक शांडिल्य ने जब से एस पी का प्रभार लिया है तब से पुलिस द्वारा सट्टे कारोबारीयों के खिलाफ विशेष मुहिम चलाकर सट्टे की खाईवाली करने वालों को भूमिगत होने के लिए मजबूर कर दिया।जिले मे सभी स्थान पर सट्टे का कारोबार लगभग बन्द है।जिले मे गिधौरी  एक मात्र ऐसा थाना क्षेत्र है जहां पर सट्टे का कारोबार बेखौफ चल रहा है।गिधौरी बस स्टैंड के कूछ दुकानों मे दुकानदारी की आड़ मे खुलेआम सट्टापट्टी लिखी जाती है।ऐसा नहीं है कि इस कारोबार की जानकारी पुलिस को नहीं है ,बल्कि इन्हें पुलिस का पूरा संरक्षण प्राप्त है।गिधौरी थाने मे पदस्थ पुलिस वालों को इन अवैध कारोबारीयों के साथ अक्सर देखा जा सकता है।सट्टा कारोबारी बाहर से सट्टापट्टी लिखाने आए सट्टेबाजों को बकायदा आस्वस्त करते हैं, कि पुलिस उनका कुछ नहीं करेगी।सट्टे के कारण हजारों घर बर्बाद हो रहे हैं,वहीँ गिधौरी पुलिस कूछ लोगों को मालामाल करने उन्हें संरक्षण दे रही है।एस पी अभिषेक शांडिल्य के सख्त निर्देश के बाद भी गिधौरी पुलिस द्वारा सट्टे कारोबारीयों के खिलाफ कार्यवाही करने के बजाए उन्हें संरक्षण देना आमजन की समझ से परे है।सट्टे के व्यवसाय से परेशान ग्रामीणों ने गिधौरी मे भी सट्टेबाजी का धंधा बन्द कराने शासन प्रशासन से मांग की है।

LEAVE A REPLY