हिमाचल प्रदेश:२२,मई,१६: पंचायती राज विभाग में आवंटन  से उत्पन विसंगति के लिए केंद्र भाजपा सरकार ज़िम्मेवार -प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता वीरेंदर चन्द्र चौहान
हिमाचल प्रदेश:२२,मई,१६: पंचायती राज विभाग में आवंटन से उत्पन विसंगति के लिए केंद्र भाजपा सरकार ज़िम्मेवार -प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता वीरेंदर चन्द्र चौहान

हिमाचल प्रदेश:२२,मई,१६: पंचायती राज विभाग में आवंटन से उत्पन विसंगति के लिए केंद्र भाजपा सरकार ज़िम्मेवार -प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता वीरेंदर चन्द्र चौहान

भाजपा की केंद्र सरकार चुनाबी दौर में “मीनिमम गवर्नमेंट मैक्सिमम गवर्नेंस”का नारा देती थी.लेकिन मोदी सरकार ने बनते ही लोकतांत्रिक हितो से खिलवाड़ शुरू कर दिया है .ये उद्गार प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता वीरेंदर चन्द्र चौहान ने प्रेसवार्ता में कहा . प्रदेश की भोली जनता ने मोदी के भ्रामक जुमलेबाजी में फंस कर भाजपा को प्रदेश की चारो संसदीय पदों पर जितवाया लेकिन केंद्र में सरकार बना भाजपा ने जिस प्रकार से 14 वित् आयोग की बजट धन राशी मोदी जी की मन की बात के अनुकूल सीधी पंचायतो के माध्यम से देने का प्रवाधान किया है जिससे पंचायतो को सीधा धन मिला लेकिन पंचायती राज के अन्य अंग जिलापरिषद एव पंचायत समित्ती के चुने हुए सदस्य अपने को ठगा महसूस कर रहे है.13वे वितायोग तक आवंटन राशी राजीव गाँधी की सोच के मुताबिक पंचायत के तीनो सतर को आवंटित की जाती थी . हिमाचल में 2013-2014 तक पंचायत समितियों एव जिलापरिषद के मद में 114716583रु की धन राशी दवित्य क्वाटर के लिए आवंटित की गयी.लेकिन14बे वितायोग में जिस की अवधि 2015-16 से 2019-2020 है में कार्य निष्पादन अनुदान केवल ग्रामपंचायतो को देने का प्रवाधान केंद्र की भाजपा सरकार द्वारा किया गया है तथा जिलापरिषद एवम पंचायत समिती उक्त अनुदान के सर्वोतम उपयोग सुनिश्चित करने हेतु पर्यवेक्षण एव अनुश्रवन के लिए उतरदाई है .इस प्रवाधान के चलते जिलापरिषद एव पंचायत समिती सदस्य अपने को ठगा महसूस कर रहे है एवम् पंचायती राज संस्थाओ में तालमेल की प्रशासनिक कमी आ गई है जो भाजपा के चुनाबी नारे से विपरीत है .प्रदेशमीडिया प्रवक्ता वीरेंदर चंद्र चौहान ने कहा की इस समय वीरभद्र सिंह की कांग्रेस सरकार जहा प्रदेश के मद से सभी वर्गों को राहत देरही है. वही केंद्र की भाजपा सरकार द्वारा पंचायती राज संस्थाओ को कमजोर करना सरकार की सवेदनहीनता दर्शाता है . जिस से सपष्ट है की मोदी सरकार पंचायती राज संस्थाओ के हितो से खिलवाड़ कर रही है एव उनका चुनाबी नारा एक चुनाबी जुमला भर था. मौजूदा समय में प्रदेश के पंचायती राज के चुने हुए सदस्य त्रस्त है और भजपा के चुने हुए सांसद क्रिकेट खिलवाने व् राजनितिक बयानबाज़ी में मस्त है और पंचायती राज के सदस्यों के हको की आवाज़ संसद व् सरकार में नहीं उठा रहे.उनके इस रुख से पता चलता है की वे जनता के हितो के प्रति कितने गंभीर है.जनता भाजपा को लोकतांत्रिक हितो के इस खिलवाड़ के चलते विधानसभा के चुनाबो में करारा जबाब देगी .

 

LEAVE A REPLY