बिहार : पालीगंज /  प्रदेश में अपराधियों के निशाने पर ज्यादा कर डाक्टर है आये दिन डाक्टरों के साथ अपराधिक घटनाओ में बढ़ोतरी देखी जा रही है बिहार में लूट, हत्या और अपहरण की वारदातें अब आम घटना सी हो गयी है  मंगलवार की रात  राजधानी पटना से 50 किलोमीटर की दूरी पर एक डॉक्टर के अपहण की नाकाम कोशिश की गई. घटना दुल्हिनबाजार थाना इलाके की है. जहां अपराधियों ने एनएमसीएच के डॉक्टर पीके झा का अपहरण करने की कोशिश की.इस दौरान हथियारबंद अपराधियों ने उनके कंपाउंडर राजीव रंजन को गोली भी मार दी साथ ही ड्राइवर मिथिलेश कुमार को भी मारपीट कर जख्मी कर दिया. वारदात में डॉक्टर तो बच गए लेकिन उनकी काले रंग की अल्टो कार लूट कर भाग निकले. कंपाउंडर राजीव रंजन के दाहिने बांह में गोली लगी है. दोनों घायलों को इलाज के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया. अपराधियों ने जिस डॉक्टर के अपहरण का प्रयास किया वो एनएमसीएच में हड्डी विभाग के प्राध्यापक हैं. डॉ. पीके झा सप्ताह में तीन दिन (मंगलवार, शुक्रवार व रविवार) को पालीगंज में एक प्राइवेट क्लीनिक में प्रैक्टिस के लिए जाते हैं.मंगलवार को वो पालीगंज से कंपाउंटर राजीव रंजन और ड्राइवर के साथ पटना लौट रहे थे. इसी बीच दुल्हिनबाजार थाने के पास दो मोटरसाइकिल पर सवार छह अपराधियों ने ओवरटेक करके कार को रोका. फिर कार के अगले भाग में बैठे कंपाउंडर व ड्राइवर के साथ मारपीट की. बीच-बचाव करने और रोकने पर अपराधियों ने कंपाउंडर को गोली मार दी.अफरातफरी के बीच किसी तरह डॉक्टर गाड़ी से नीचे उतर कर अंधेरे में छिप गए. इस मामले के अनुसंधान के लिए एसएसपी ने एसआईटी (स्पेशल इंवेस्टिेगेशन टीम) गठित कर दी है. अपराधियों की तलाश में पुलिस संभावित ठिकानों पर छापेमारी कर रही है25_05_2016-compounder

 

LEAVE A REPLY