अफसरों को बताईं आपदा प्रबंधन की बारीकियां

बचत भवन में चल रही है तीन दिवसीय कार्यषाला
ग्रुप एक्सरसाइज के माध्यम से भी करवाया गया अभ्यासजिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण और राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के संयुक्त तत्वावधान में संयुक्त राश्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) के तहत बचत भवन में आयोजित की जा रही तीन दिवसीय कार्यषाला के दूसरे दिन भी प्रतिभागी अधिकारियों को इंसीडेंट रिस्पांस सिस्टम (घटना अनुक्रिया तंत्र) के संबंध में कई महत्वपूर्ण जानकारियां दी गईं।
कार्यषाला के दौरान यूएनडीपी के विषेशज्ञ एवं इंडिया टुडे समूह से संबंधित केयर टुडे के कार्यकारी निदेषक बालाजीत सिंह और दिल्ली के वरिश्ठ प्रषासनिक अधिकारी राजेष भाटिया ने प्रतिभागियों को आपदा प्रबंधन से जुड़े विभिन्न पहलुओं से अवगत करवाया और इससे संबंधित कई ग्रुप एक्सरसाइज भी करवाईं। इन विषेशज्ञों ने बताया कि बेहतर प्लानिंग से ही बेहतर आपदा प्रबंधन किया जा सकता है। इसके माध्यम से ही राहत, बचाव व पुनर्वास कार्यों को प्रभावी तरीके से अंजाम दिया जा सकता है।
उन्होंने कहा कि किसी भी तरह की आपदा की स्थिति में सबसे पहले संबंधित अधिकारियों को अपने लक्ष्य, उददेष्य व प्राथमिकताएं तय करनी चाहिए और इन्हीं के अनुसार त्वरित कदम उठाने चाहिए। ऐसी परिस्थितियों में उपलब्ध सभी तरह के संसाधनों का सदुपयोग व उनका सही प्रबंधन अति आवष्यक है। कार्यषाला के दूसरे दिन प्रतिभागियों को सभी तरह के संसाधनों के सदुपयोग व प्रबंधन के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। गु्रप एक्सरसाइज के माध्यम से भी आपदा प्रबंधन की बारीकियां सिखाई गईं और उनका अभ्यास करवाया गया।

LEAVE A REPLY