(मानवेन्द्र मिश्रा / जिला ब्यूरो चीफ सुनामी मिडिया  )

जिले में अभी तक रिकार्ड मतो से दर्ज की जित.FB_IMG_1464622714341 (1)

– जिले की सबसे हाट सिट था क्षेत्र सख्या अठारह .

– प्रदेश स्तर के नेताओ की थी इस सिट पर निगाह .

– सदस्य में जित के बाद पाण्डेय परिवार की निगाह अध्यक्ष की कुर्सी पर .

गोपालगंज / हथुआ : जिले के हथुआ प्रखंड के जिला परिषद् क्षेत्र सख्या अठारह से जदयू नेता और बिहार के चर्चित बाहुबली सतिश पाण्डेय के पुत्र मुकेश कुमार पाण्डेय ने रिकार्ड मतो से जित दर्ज की है ,  मुकेश कुमार पाण्डेय ने अपने प्रतिद्वन्दी संतोष यादव को बारह हजार मतो से पराजित किया , मुकेश पाण्डेय को कुल 17731 मत प्राप्त हुए थे जबकि संतोष यादव को मात्र 5820 मतो पर ही संतोष करना पड़ा . जिले की सबसे हाट सिट था क्षेत्र सख्या अठारह . इस सिट पर प्रदेश स्तर के नेताओ का निगाह टिका हुआ था . क्योकि इस सिट पर जिलापरिषद अध्यक्ष के लिए मुकेश पाण्डेय ने चुनाव लड़ा था . अगर मुकेश पाण्डेय और पाण्डेय परिवार की बातो को माने तो उनके सारे विरोधी इस चुनाव में एक होकर उन्हें हराने की कोशिश किए , लेकिन जानता ने सारे विरोधियों के मनसूबे पर पानी फेर दिया और जिले में सबसे रिकार्ड मतो से उन्हें विजयी किया .   अब इस जित के बाद पाण्डेय परिवार की निगाह अब जिलापरिषद के अध्यक्ष की कुर्सी पर है . इसके पूर्व में भी जिप अध्यक्ष की कुर्सी पर पाण्डेय परिवार का कब्जा रहा है , वर्ष 2001  में वर्तमान कुचायकोट जदयू  विधायक अमरेन्द्र कुमार पाण्डेय ने जिप अध्यक्ष पर कब्जा जमाया था , उसके बाद बाहुबली सतिश पाण्डेय की पत्नी स्वर्गीय उर्मिला पाण्डेय ने जिप अध्यक्ष की कुर्सी पर विराजमान रही , तब सतिश पाण्डेय बाहर थे लेकिन उनके आत्मसमर्पण करने के बाद अगला चुनाव वर्ष 2011 में हुआ जिसमे कुख्यात विजय सिंह की पत्नी चंदा सिंह अध्यक्ष पद पर काबिज हुई थी और उर्मिला पाण्डेय को चन्दा सिंह से हार का समना करना पड़ा था , लेकिन इस बार विजय सिंह के जेल में होने के कारण चंदा सिंह चुनाव नही लड़ पाई , इसके साथ ही अब परिस्थिति भी पाण्डेय परिवार के लिए बदल गयी और सतिश पाण्डेय सभी मामलो में बरी होकर जेल से बाहर आ चुके है , और इस बार अब देखना है की उट किस ओर  करवट लेता है ,यह तो समय ही बताएगा , लेकिन जिप अध्यक्ष के लिए कोइ भी दावेदार प्रत्यक्ष रूप से सामने नही दिख रहे है .

LEAVE A REPLY