बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने कहा कि उनकी हत्या की साजिश रची गई थी. मांझी ने कहा कि गया के डुमरिया में उनके काफिले पर जो हमला हुआ वो राजनीतिक साजिश थी. मांझी ने इस हमले की सीबीआई से जांच कराने की मांग की है.

हमले की जांच सीबीआई से कराने की मांग
पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने बिहार विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी पर भी गंभीर आरोप लगाए. मांझी ने कहा कि मेरे हत्या की साजिश में सामने से रौशन मांझी और पर्दे के पीछे से बिहार विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी शामिल थे. मांझी ने पूर्व सांसद राजेश कुमार के हत्या की जांच भी सीबीआई से कराने की मांग की.

पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी के काफिला पर 26 मई को गया के डुमरिया में हमला हुआ था, जिसमें मांझी के स्कार्ट वाहन में भी आग लगा दी गई थी. मांझी मृतक लोजपा नेता सुदेश पासवान के परिजनों से मिलने जा रहे थे. गौरतलब है कि 25 मई को नक्सलियों ने लोजपा नेता सुदेश पासवान और उनके फुफेरे भाई सुनील पासवान की हत्या कर दी थी.jitan_146488096584_650x425_060216090155

LEAVE A REPLY