मुकेश तिवारी@ ब्यूरो छत्तीसगढ़ (09174310780)

सुनामी टाइम्स मीडिया ग्रुप


20160604182031

 

बिलासपुर  । जिले के हर गांव में झोलाछाप डॉक्टर अपनी दुकान खुले आम चला रहे हैं. स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के संरक्षण में झोलाछाप का गोरखधंधा फल-फूल रहा है. कहीं ठेलों में तो कहीं जर्जर आवासों में क्लीनिक चलाए जा रहे हैं. जो पूरी तरह नर्सिंग होम एक्ट को ठेंगा दिखा रहे हैं.यहां तक की फर्जी डिग्री के आधार पर लोगों का उपचार किया जा रहा है. इसकी जानकारी स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदारों को होने के बाद भी कोई देखने वाला नहीं है. नर्सिंग होम एक्ट बनने के तीन साल बाद भी बिलासपुर स्वास्थ्य विभाग इसका पालन कराने में असमर्थ साबित हुआ है. जिसका फायदा झोलाछाप जमकर उठा रहे हैं. जिले में संचालित कई क्लीनिक और पैथालाजी लैब नर्सिंग होम एक्ट पर खरे नहीं उतरते हैं मामूली बुखार में भी झोलाछाप डॉक्टर लोगों से मोटी रकम ऐंठ रहे हैं. बिलासपुर जिला मुख्यलय से लगे ग्राम ग्राम सिरगिट्टी, मंगला, सेंदरी, रतनपुर कोटा आदि  में  सांचालित है  अगर स्वस्थ विभाग के द्वारा जाँच। की जय तो हो सकता है गरीब अनपढ़ आदि  वाशियो को थोडा राहत मिल सकती है मुन्नी बाई ने बताया की हम रतनपुर में बच्चे का एक डाक्टर से इलाज करवा रही थी लेकिन तबियत बहुत रुपय खर्चा करने के बाद भी नहीं ठीक हुआ अब सिम्स में इलाज करवा रही है ।जिले में ऐसे बहुत से मामले है जिनका कोई सुनने वाला नहीं है ।

 

जब इस मामले में बिलासपुर जिला स्वस्थ अधिकारी एसपी सक्सेना से बात की गयी तो उन्होंने ने सुनामी को बताया की सम्बन्धित छेत्र के sdm को बताये  जाँच समितियों को आदेश  दिया जायेगा ।

LEAVE A REPLY