हिमाचल प्रदेश:महिला सशक्तिकरण के लिए शिक्षा के साथ कौशल विकास आवश्यकः सुधीर शर्मा
हिमाचल प्रदेश:महिला सशक्तिकरण के लिए शिक्षा के साथ कौशल विकास आवश्यकः सुधीर शर्मा

धर्मशाला, 05 जून: शहरी विकास, आवास एवं नगर नियोजन मंत्री सुधीर शर्मा ने बेटियों को बेहतर शिक्षा उपलब्ध करवाने के साथ साथ उनके कौशल विकास की आवश्यकता पर बल दिया है। उन्होंने कहा कि महिला सशक्तिकरण शिक्षा के साथ आवश्यक कौशल विकास से ही संभव है। सुधीर शर्मा आज यहां प्रजापिता ब्रह्मकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय माउंटआबू द्वारा धर्मशाला स्थित अपने राजयोग केंद्र के सहयोग से ईश्वरीय विश्वविद्यालय के ‘बेटी बचाओ-सशक्त बनाओ’ अभियान के अंतर्गत आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए बोल रहे थे। शर्मा ने कहा कि हिमाचल प्रदेश, राज्य सरकार के प्रयासों, प्रशासन, गैर सरकारी संस्थाओं एवं जनसहयोग से बेटा-बेटी के बीच भेदभाव की प्रवृति को खत्म करने की दिशा में मजबूती से आगे बढ़ा है। उन्होंने कहा कि इसी दिशा में गतदिनों मुख्यमंत्री श्री वीरभद्र सिंह ने ज्वालामुखी में ‘कांगड़े दी मुन्नी’ अभियान का शुभारम्भ किया, जिसके अंतर्गत शिशु लिंगानुपात में असंतुलन को दूर करने और बेटियों की शिक्षा, स्वास्थ्य, सुरक्षा और अधिकारों को लेकर जनजागरूकता पर बल दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि स्त्री को कमजोर आंकने की सोच में परिवर्तन नितांत आवश्यक है और महिलाएं स्वयं अपने कार्यों से ही इस सोच को बदलने में समर्थ हैं। महिलाओं ने अनेक उच्च पदांे को सुशोभित किया है और हर क्षेत्र में सफलता का परचम फहरा रही हैं। सुधीर शर्मा ने कहा कि शिक्षा क्षेत्र में बेटियां लगातार शानदार प्रदर्शन कर रही हैं और विभिन्न बोर्ड परीक्षाओं के परिणामों में उनका दबदबा इस बात की बानगी है। उन्होंने प्रजापिता ब्रह्मकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय द्वारा धर्मशाला स्थित अपने राजयोग केंद्र के सहयोग से अभियान का आयोजन करने के लिए ब्रह्मकुमारी परिवार के सभी सदस्यों के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के आयोजन बेटियों के महत्व बारे लोगों को जागरूक करने एवं भेदभाव की मानसिकता में परिवर्तन लाने में सहायक होते हैं। उन्होंने ब्रह्मकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के महिला प्रभाग द्वारा पूरे देश में इस तरह के आयोजनों की श्रृंखला चलाने के प्रयासों की भी प्रश्ंासा की। शर्मा ने आशा व्यक्त करते हुए कहा कि हम बेटियों की सुरक्षा सम्मान और अधिकारों को लेकर जनजागरूकता एवं जनसहयोग से समाज को नई दिशा देने में कामयाब होंगे। इस अवसर पर ब्रह्मकुमारी परिवार के सदस्यों ने उनका स्वागत किया। कार्यक्रम में सभी ने बेटी बचाओ-सशक्त बनाओ के संबंध में शपथ ग्रहण की। इस अवसर पर शहरी कांग्रेस धर्मशाला के अध्यक्ष आरपी चोपड़ा, ब्रह्मकुमारी परिवार से राजयोगिनी उमा, राजयोगिनी किरण, राजयोगिनी शालिनी ने भी बेटी बचाओ-सशक्त बनाओ के संबंध में अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम में नगर निगम धर्मशाला के पार्षदगण, विभिन्न विभागों के अधिकारी, ब्रह्मकुमारी परिवार के सदस्य एवं शहर के गणमान्य लोग उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY