हिमाचल प्रदेश:नेशनल लेवल की कांफ्रेंस 12-13 को टांडा में: बाली
हिमाचल प्रदेश:नेशनल लेवल की कांफ्रेंस 12-13 को टांडा में: बाली

टांडा में होगी तीसरी कांफ्रेंस
केंद्रीय मंत्री गडकरी बनाया है ग्रुप आफ मिनिस्टरस
धर्मशाला:०८,जून,१६:जिला कांगडा के टांडा मेडिकल कालेज के आडिटोरियम में 12-13 जून को नेशनल लेवल की कांफ्रेंस का आयोजन किया जाएगा । केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने मिनिस्टर आफ ग्रुप बनाया है, जिसमें 5 सदस्य हैं, उनकी कांफ्रेंस टांडा में होगी । ग्रुप आफ मिनिस्टरस को राजस्थान के परिवहन मंत्री मोहम्मद युनुस हैडल कर रहे हैं । यह बात परिवहन मंत्री जीएस बाली आज धर्मशाला में प्रेसवार्ता में कही । बाली ने कहा कि बढती दुर्घटनाओं पर नीति बनाने के लिए ग्रुप आफ मिनिस्टरस का गठन किया गया है, जिसमें हमारा जोर रोड सेफटी पर है। बाली ने कहा कि 1980 के दशक में बने मोटर व्हीकल एक्ट में आज तक एमेंडमेंट नहीं हो पाया है, जिसमें एमेंडमेंट के लिए ग्रुप आफ मिनिस्टरस के सदस्य विचार विमर्श करने के साथ सुझाव ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि ग्रुप के सदस्य अन्य राज्यों से भी सुझाव ले रहे हैं । उन्होंने कहा कि हर साल सडक दुर्घटनाओं में एक लाख से अधिक लोग शिकार होते हैं, जबकि हिमाचल में दुर्घटनाएं कम होती हैं, लेकिन दुर्घटना होने पर नुकसान ज्यादा होता है, क्योंकि प्रदेश की भौगोलिक परिस्थितियां अन्य राज्यों की अपेक्षा भिन्न हैं, जिसके के लिए सुझाव दिए गए हैं, जिसमें रोड सेफटी पर जोर दिया गया है।

सड़क सुरक्षा पर टांडा में होगा राष्ट्रीय सम्मेलन : बाली
परिवहन मंत्रियों का उच्चाधिकार प्राप्त समूह करेगा शिरकत

धर्मशाला, 08 जून – परिवहन मंत्री जीएस बाली ने कहा कि परिवहन विभाग द्वारा 12 और 13 जून, 2016 को टांडा में राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। डॉ0 राजेन्द्र प्रसाद मेडिकल कॉलेज टांडा के सभागार में आयोजित होने वाले इस दो दिवसीय सम्मलेन में केन्द्रीय परिवहन मंत्रालय द्वारा सड़क सुरक्षा क्षेत्र में सुधार हेतु सुझाव देने के लिए गठित राज्यों के परिवहन मंत्रियों का उच्चाधिकार प्राप्त समूह सड़क सुरक्षा से संबंधित विभिन्न विषयों पर चर्चा करेगा। मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह 12 जून, 2016 को सायं 3 बजे सम्मेलन का शुभांरभ करेंगे।
बाली आज धर्मशाला में पत्रकारवार्ता को संबोधित कर रहे थे। गौरतलब है कि केन्द्रीय परिवहन मंत्रालय ने सड़क सुरक्षा संबंधी नीतिगत मुद्दों पर परामर्श देने के लिए राजस्थान के परिवहन मंत्री यूनुस खान की अगुवाई में राज्यों के परिवहन मंत्रियों का उच्चाधिकार प्राप्त समूह गठित किया है।
उन्होंने कहा कि उच्चाधिकार प्राप्त समूह सड़क सुरक्षा से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर चर्चा करेगा तथा इसके उपरांत, इस संदर्भ में आवश्यक सुझावों, समाधानों एवं संस्तुतियों को लेकर प्रस्ताव पारित किया जाएगा। समूह के प्रस्ताव को केन्द्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी को सौंपा जाएगा, ताकि वे मोटर वाहन अधिनियम के संशोधन के लिए एक्ट के मसौदे में समूह की संस्तुतियों का उपयोग कर सकें।
परिवहन मंत्री ने कहा कि इससे पूर्व, उच्चाधिकार प्राप्त समूह की दिल्ली एवं बगंलुरू में बैठक हुई है, जिनमें नाबालिगों द्वारा वाहन चलाने, बिना लाईसेंस के ड्राईविंग और सरकारी प्रक्रिया को आसान बनाने सहित सड़क सुधार एवं सुरक्षा के विभिन्न विषयों पर विस्तार से विचार-विमर्श किया गया है तथा इस संदर्भ में समाधान के लिए विभिन्न सुझावों पर चर्चा हुई है। उन्होंने कहा कि पूर्व में वाहन चलाते समय बार-बार नियमों की अवहेलना करने पर कुछ समय के लिए लाईसेंस स्थगन के प्रस्ताव पर भी विचार किया गया है।
बाली ने कहा कि प्रदेश में दुर्घटना संभावित ‘ब्लैक स्पॉट’ को चिन्हित करने एवं उनके सुधार की दिशा में कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि केन्द्रीय परिवहन मंत्री ने प्रदेश के चिन्हित ब्लैक स्पॉट की रिपोर्ट उनके मंत्रालय को सौंपने के लिए कहा है, ताकि इन स्थलों के सुधार के लिए धन उपलब्ध करवाया जा सके। उन्होंने कहा कि केन्द्रीय मंत्री ने इस कार्य में धन की कोई कमी आड़े नहीं आने का आश्वासन दिया है।
   परिवहन मंत्री जीएस बाली ने दिए केन्द्र सरकार को सुझाव
जीएस बाली ने कहा कि सड़क सुरक्षा को लेकर उनके कई सुझावों को केन्द्रीय मंत्री ने गंभीरता से लिया है। उन्होंने कहा कि उन्होंने नशा करके गाड़ी चलाने वालों पर सख्त कार्यवाही करने, दुर्घटना से बचाव के लिए सड़कों के सुधार पर बल देने और दुर्घटना की स्थिति में अविलंब रेसक्यू सेवा और ट्रॉमा सेन्टरों के जरिए तुरंत चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाने और 4 हजार से अधिक की ऊंचाई पर ‘ब्लैक स्पॉट’ पर क्रैश बैरियर लगाने की अनुमति दिए जाने सहित अन्य अनेक सुझाव दिए हैं।

LEAVE A REPLY