मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह करेंगे राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सम्मेलन का शुभारंभ, परिवहन मंत्रियों का उच्चाधिकार प्राप्त समूह सड़क सुरक्षा को लेकर करेगा बैठक: बाली
मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह करेंगे राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सम्मेलन का शुभारंभ, परिवहन मंत्रियों का उच्चाधिकार प्राप्त समूह सड़क सुरक्षा को लेकर करेगा बैठक: बाली

टांडा में 12-13 जून को आयोजित होगा सम्मेलन, भाग लेंगे देशभर के परिवहन मंत्री

धर्मशाला, 10 जून: मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह 12 जून को टांडा में आयोजित राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सम्मेलन का शुभारंभ करेंगे। वे 12 जून को सायं 3 बजे डॉ. राजेन्द्र प्रसाद मेडिकल कॉलेज, टांडा में आयोजित इस दो दिवसीय सम्मेलन का शुभारंभ करने के उपरांत राज्यों के परिवहन मंत्रियों के उच्चाधिकार प्राप्त समूह को संबोधित करेंगे। यह जानकारी देते हुए सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि इस सम्मलेन में केन्द्रीय परिवहन मंत्रालय द्वारा सड़क सुरक्षा क्षेत्र में सुधार हेतु सुझाव देने के लिए गठित राज्यों के परिवहन मंत्रियों का उच्चाधिकार प्राप्त समूह सड़क सुरक्षा से संबन्धित विभिन्न विषयों पर चर्चा करेगा। परिवहन मंत्री जीएस बाली ने कहा कि केन्द्रीय परिवहन मंत्रालय द्वारा नीतिगत मुद्दों पर परामर्श देने के लिए गठित राज्यों के परिवहन मंत्रियों का उच्चाधिकार प्राप्त समूह 12 और 13 जून, 2016 को कांगड़ा जिला के टांडा में सड़क सुरक्षा से संबंधित विभिन्न विषयों पर चर्चा के लिए बैठक करेगा। उन्होंने कहा कि डॉ. राजेन्द्र प्रसाद मेडिकल कॉलेज, टांडा के सभागार में आयोजित होने वाले इस दो दिवसीय सम्मेलन का शुभारंभ मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह करेंगे। बाली ने कांगड़ा में पत्रकारवार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि राजस्थान के परिवहन मंत्री यूनुस खान की अध्यक्षता में गठित यह समूह बैठक में सड़क सुरक्षा पर बल देते हुए परिवहन क्षेत्र को आधुनिक एवं सक्षम बनाने के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा करेगा। इसके उपरांत, मोटर वाहन अधिनियम में आवश्यक सुधारों को लेकर समूह द्वारा प्रस्तुत विभिन्न सुझावों की अंतिम रिपोर्ट तैयार की जाएगी। इस रिर्पाट को केन्द्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी को सौंपा जाएगा, ताकि वे संसद के आगामी मानसून सत्र में मोटर वाहन अधिनियम में संशोधन के लिए लाए जाने वाले एक्ट के मसौदे में समूह की संस्तुतियों का उपयोग कर सके । परिवहन मंत्री कहा कि प्रदेश में दुर्घटना संभावित ‘ब्लैक स्पॉट’ को चिन्हित करने एवं उनके सुधार की दिशा में कार्य किया जा रहा है। केन्द्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी भी सड़क सुरक्षा को लेकर अत्याधिक गंभीर हैं तथा केन्द्रीय मंत्री ने स्थितियों में सुधार के लिए हर संभव सहायता एवं इस कार्य के लिए धन की कोई कमी आड़े नहीं आने देने का आश्वासन दिया है। उन्होंने कहा कि इस बैठक में भाग लेने के लिए देशभर के विभिन्न राज्यों के परिवहन मंत्रियों ने आने की पुष्टि की है। अभी तक आंध्रप्रदेश, बिहार, छत्तीसगढ़, गोवा, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, झारखंड, कर्नाटक, केरल, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, मेघालय, मिजोरम, पंजाब, राजस्थान, सिक्किम, तमिलनाडु और तेलंगाना के परिवहन मंत्रियों की ओर से बैठक में भाग लेने की पुष्टि हो चुकी है। इसके अतिरिक्त भी कुछ और राज्यों के परिवहन मंत्रियों के आने की भी सम्भावना है। बाली ने कहा कि इसके अतिरिक्त, केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय के सचिव, अन्य केन्द्रीय मंत्रालयों के वरिष्ठ अधिकारी, विश्व बैंक के प्रतिनिधि, राज्यों के संबंधित विभागों के अतिरिक्त मुख्य सचिव एवं सचिव, परिवहन विभागों के उच्चाधिकारी, विभिन्न गैर सरकारी संगठन और अन्य हितधारक इस दो दिवसीय सम्मेलन में भाग लेंगे। इसके उपरांत, परिवहन मंत्री ने सम्मेलन की तैयारियों का जायजा लेने के लिए टांडा में आयोजित समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की और सम्मेलन के सफल आयोजन के लिए इस संदर्भ में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

LEAVE A REPLY