छत्तीसगढ़ में नए राजनैतिक विकल्प का उदय। “छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जोगी)”  होगा नए दल का नाम।

👉🏻 कबीर जयंती के अवसर पर कबीरधाम जिले के ग्राम ठाठापुर की सभा में हुई घोषणा।

👉🏻 मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के गृह ग्राम में नए पार्टी के नाम की घोषणा कर श्री अजीत जोगी ने रमन से सीधी टक्कर का दिया बड़ा राजनितिक सन्देश।

 

👉🏻 जोगी जी ने छत्तीसगढ़ के किसानों, मजदूरों, युवाओं और व्यापारियों के हितों के फैसले छत्तीसगढ़ में ही लेने की शपथ ली तथा सभा में उपस्थित हज़ारों लोगों को शपथ दिलाई ।

 

👉🏻 ग्राम आवाज़ के दूसरे चरण का हुआ आगाज़।

 

 

▪21 जून, 2016, रायपुर: छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री श्री अजीत जोगी द्वारा कोटमी में नया राजनैतिक दल बनाने की घोषणा के बाद, नए दल के नाम को लेकर पिछले पंद्रह दिनों से प्रदेश भर के लोगों की उत्सुकता ने आज उत्साह का रूप ले लिया। कबीरधाम जिले के ग्राम ठाठापुर में भारी संख्या में उपस्थित लोगों के बीच श्री अजीत जोगी ने आज नए दल के नाम की घोषणा की। छत्तीसगढ़ में नए राजनैतिक विकल्प का नाम “छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जोगी)” होगा। नए दल के नाम की घोषणा होते ही “जय छत्तीसगढ़” के नारों से आसमान गूँज उठा। नए दल के नाम की घोषणा भी अनोखे रूप से की गयी। पहले जोगी जी ने दल का नाम, गाँव की एक बच्ची के कान में बताया और उसे  चॉक देते हुए नए दल का नाम सबके सामने ब्लैकबोर्ड में लिखने को कहा। बच्ची ने नए दल का नाम ब्लैकबोर्ड में लिख कर छत्तीसगढ़ के इतिहास में एक नए अध्याय की शुरआत होने का प्रभावी सन्देश दिया। इसके पूर्व आसपास के गाँवों से आये पंचायत प्रतिनिधियों एवं ग्रामवासियों ने ठाठापुर में जोगी जी का एतिहासिक स्वागत किया। सभा में प्रमुख रूप से छत्तीसगढ़ विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष श्री धरमजीत सिंह, पूर्व विधायकगण श्री विधान मिश्रा,श्री परेश बागबाहरा, श्री डीपी धृतलहरे, श्री गुलाब सिंह, श्री भानुप्रताप सिंह, श्री चैतराम साहू, सुकमा जिला पंचायत अध्यक्ष हरीश कवासी लखमा आदि उपस्थित थे। ज्ञात हो कि वर्तमान विधायकों को इस सभा में आने से मना किया गया था।

▪ग्राम आवाज़ के दूसरे चरण का आगाज़ एवं नई पार्टी के नाम की घोषणा, मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के गढ़ ठाठापुर में कर, श्री अजीत जोगी ने आज रमन सरकार को चुनौती देते हुए उपस्थित लोगों को विश्वास दिलाया कि वो रमन सरकार के कुशासन से छत्तीसगढ़ की जनता को मुक्त कराकर ही दम लेंगे। जोगी ने कहा कि छत्तीसगढ़ की जनता बदलाव चाहती है और जनता का जीवन सुखमय बनाने की जिम्मेदारी अब उनकी है ।

▪जोगी जी ने कहा कि राज्य की भाजपा सरकार का छत्तीसगढ़ के लिए कोई  विज़न नहीं है। दिल्ली पर निर्भरता से राज्य की व्यवस्था ही चरमरा गयी है। दिल्ली में मेक इन इंडिया हुआ तो रमन सरकार ने मेक इन छत्तीसगढ़ कर दिया। छत्तीसगढ़ के सभी वर्गों के लोगों के हितों के लिए किये जाने फैसलों में दिल्ली की राह देखती बैठती है सरकार। किसान, व्यापारी और युवाओं के लिए कोई छत्तीसगढ़ केंद्रित निति ही नहीं है। जिससे इन वर्गों का विकास हो सके। निति के नाम पर केवल खानापूर्ति हो रही है।  जोगी जी ने कहा कि 13 वर्षों में सरकार अपने संसाधनों तक को नहीं बढ़ा सकी। खनिज और लौह अयस्क से भरपूर छत्तीसगढ़ में आम आदमी की आय नहीं बढ़ी। नई पार्टी  “छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जोगी)”

अब इस व्यवस्था को बदलेगी और छत्तीसगढ़ के सभी वर्गों के हित और विकास के लिए कार्य करेगी।

▪जोगी जी ने कहा की वो छत्तीसगढ़ में ऐसी व्यवस्था लाएंगे जिसमे धान का समर्थन मूल्य छत्तीसगढ़ में तय होगा। स्थानीय बेरोजगारों को रोजगार मिलेगा एवं छत्तीसगढ़ कर- मुक्त (टैक्स फ्री) राज्य बन सकेगा।

▪नई पार्टी  “छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जोगी)” की घोषणा के अवसर पर श्री अजीत जोगी ने आज सभा में उपस्थित हज़ारों लोगों को एक साथ शपथ दिलाई। सभी लोगों ने एक स्वर में संकल्प लेते हुए कहा कि “मैँ संकल्प करता / करती  हूँ कि अब छत्तीसगढ़ के सभी फैसले, छत्तीसगढ़ के सभी वर्गों के द्वारा, छत्तीसगढ़ के हितों को सर्वोपरि रखते हुए छत्तीसगढ़ में ही लिए जाने का समर्थन करता/करती हूँ”।

▪इस बीच सरपंचों एवं गणमान्य वक्ताओं ने अपने संबोधन में जोगी जी के मुख्यमंत्रित्व काल को याद किया और कहा कि उस समय छत्तीसगढ़ के फैसले छत्तीसगढ़ में होते थे। भाजपा की केंद्र सरकार ने जब छत्तीसगढ़ के किसानों का धान खरीदने से मना कर दिया था तो जोगी जी ने नए बने राज्य के सिमित संसाधनों से ही प्रदेश के किसानों के धान का एक-एक दाना सबसे उचित मूल्य में ख़रीदा था। उस दौरान केवल चार हज़ार करोड़ के बजट में पूर्व मुख्यमंत्री जोगी जी ने यह कमाल कर दिखाया था और आज रमन सरकार के पास 70 हज़ार करोड़ का बजट और केंद्र में सरकार होने के बाद भी किसानों को राहत नहीं मिल रही है । धान का कटोरा कहे जाने वाले कृषि प्रधान छत्तीसगढ़ के कृषकों को ही रमन सरकार ने जीते जी मार दिया। इधर किसान भाई आत्महत्या करने मजबूर हैं और उधर पाई पाई के लिए दिल्ली तरसा रही है।

▪श्री अजीत जोगी ने छत्तीसगढ़ एवं देश के अन्य क्षेत्रों से नई पार्टी के नाम का सुझाव देने वाले सभी लोगों का आभार प्रकट करते हुए कहा कि पार्टी के नाम रखने को लेकर इतने बड़े स्तर पर मिले प्रतिसाद ने यह सिद्ध कर दिया है कि लोकतंत्र में जनभागीदारी से कुछ भी संभव हो सकता है। पार्टी बनाना है या नहीं, पार्टी का नाम क्या रखें, इन दो महत्वपूर्ण निर्णयों को लेने जो लोकतांत्रिक तरीका अपनाया गया वो दरअसल छत्तीसगढ़ की जनता को यह सन्देश देने के लिए कि, नई पार्टी “छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जोगी)”  छत्तीसगढ़ की जनता की अपनी पार्टी है और इसे जनता ही चलाएगी। जनता के निर्णय एवं मत के बिना हम कोई निर्णय नहीं लेंगे। छत्तीसगढ़ की जनता सर्वोच्च और सर्वोपरि है।

▪कबीरधाम जिले में नई पार्टी “छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जोगी)” के नाम की घोषणा का एतिहासिक और धार्मिक महत्व  बताते हुए जोगी जी ने कहा कि अपने मुख्यमंत्रित्व काल में उन्होंने छत्तीसगढ़ में सतगुरु कबीर साहेब जी के अनुयायियों का मान और कबीर जी का सम्मान करते हुए कवर्धा जिले को “कबीरधाम” का नाम दिया था। संत कबीर जयंती के पावन अवसर पर नए पार्टी के नाम “छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जोगी)” की घोषणा कबीरधाम जिले में होना निश्चित रूप से छत्तीसगढ़ में आने वाले बदलाव की ओर बढ़ने का पहला शुभ कदम है।

▪अजीत जोगी ने कहा कि नए दल  “छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जोगी)” के नाम के सारे शब्द दरअसल एक दूसरे से जुड़े हुए हैं तथा इनमे पार्टी का मूल उद्देश्य और सार समाहित है।”छत्तीसगढ़”- सदैव प्रथम, उसकी अस्मिता और पहचान सर्वोपरि इसलिए नाम के पहले “छत्तीसगढ़” रखा गया है। “जनता”- छत्तीसगढ़ की जनता के जीवन में बदलाव लाने, जनता को आगे बढ़ाने के उद्देश्य से ही नई पार्टी का गठन हुआ है। “कांग्रेस” (जोगी) – छत्तीसगढ़ की जनता हमे कांग्रेस की विचारधारा के सच्चे ध्वज वाहक के रूप में देखती है। छत्तीसगढ़ के महापुरषों के सिद्धांतों एवं आदर्शों पर चलकर, हम फासीवादी ताकतों एवं उनके सहयोगियों के कुशासन से जनता को मुक्त कराकर एक स्वर्णिम छत्तीसगढ़ देना चाहते हैं ।

▪”ग्राम आवाज़” अभियान के दूसरे चरण की शुरुआत करते हुए जोगी जी ने कहा कि “ग्राम आवाज़” नई पार्टी  “छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जोगी)”का आधार स्तंभ है । प्रदेश भर के लाखों समर्थक, कार्यकर्ता, विधायक, पूर्व विधायक एवं सांसद अपने अपने क्षेत्रों के ग्राम पंचायतों में रमन सरकार के विरुद्ध प्रस्ताव पारित करने की दिशा में कार्य करेंगे। IMG-20160621-WA0005

LEAVE A REPLY