गैसोलीन लिखा है तो गाड़ी नहीं होगी पास – एमवीआई

हिमाचल प्रदेश: धर्मशाला के आरटीओ दफ्तर के अधिकारियों को अभी भी समार्ट ट्रेनिंग की आवश्यकता है। गौरतलब है की आरटीओ आफिस के अधिकांश अधिकारियों… चाहे वह एेजेंट हो या अफ्सर… गैसोलीन का मतलब तक नहीं जानते। किस्सा गाड़ी की रेजिष्ट्रेशन से लेकर पासिंग का है। किसी कंपनी से पेट्रोल गाड़ी खरीदने पर रेजिष्ट्रेशन के दौरान आजकल पेट्रोल की जगह गैसोलीन लिखा जाने लगा है। सुनामी मीडिया द्वारा किए गए सर्वे के अनुसार गैसोलीन का मतलब छठी कक्षा में पढने वाले बच्चे से लेकर बडे व्यक्ति या किसी भी प्रशासनिक अधिकारी को गैसोलीन का अर्थ पता है । केवल आरटीओ आफिस के अधिकारियों को ही गैसोलीन का मतलब नहीं पता….गौरतलब है की जब एक व्यक्ति अपनी पेट्रोल गाडी पास करवाने एमवीआई के पास गया… तो उसे रिजेक्ट करके वापस भेज दिया गया और उस रिजेक्शन का कारण उसके कागजों पर पेट्रोल की जगह गैसोलीन लिखा बताया गया ।
अब किसकी गलती बतायी जाए? पेट्रोल को गैसोलीन लिखने वाले की या गैसोलीन क्या है…इसकी जानकारी न होने वाले की।

LEAVE A REPLY