(शैलेश कुमार पाण्डेय )

 

मोतिहारी : आखिर महत्मा गाँधी के कर्म भूमि पर किसकी बुरी नजर लगी कि ये घटना मानवता को कलकित कर दिया . बिहार में अपराधियों का बहार आ गया है क्योकि अपराध करने के बाद उन्हें अब राजनितिक सरक्षण मिलना शुरू हो गया है यही कारण है कि अपराधिक घटनाओ में लगतार दिनपर दिन वृधि हो रही है , आखिर सुशासन बाबु को कौन सी ऐसी मजबूरी हो गयी है कि वे इतना वर्दास्त कर रहे है , ये कहना है बिहार के विपक्षी दल के नेताओ का .

अब मोतिहारी के निर्भया को कब न्याय मिलेगा यह सवाल बिहार के लोगो का सरकार से है . मोतीहारी में एक लड़की के साथ इतना घिनौना बर्ताव किया गया कि जिसने भी सुना उसकी रूह कांप गई। लड़की के साथ बदमाशों ने घर से खींचकर बीच सड़क पर रेप किया।

इतना ही नहीं हैवानों ने लड़की के निजी अंग में बंदूक की नली और लकड़ी डाल दी। इसके बाद बड़े आराम से वो सभी दबंग वहां से फरार हो गए। लड़की बुरी तरह से घायल अवस्था में सड़क पर तड़पती रही।

दरअसल आरोपी ने 13 जून को पहले भी लड़की के साथ बलात्कार किया था। इसके कुछ दिनों बाद आरोपी और उसके साथियों ने लड़की को हथियार के बल पर घर से उठाया और बीच सड़क पर उसके साथ फिर बलात्कार किया।

जब इसकी शिकायत लेकर पीड़ित के परिवार वाले आरोपी के घर पहुंचे तो उन लोगों ने जान से मारने की धमकी देकर पीड़ित परिवार को भगा दिया।

इस मामले में पुलिस की लापरवाही भी साफ देखने को मिली जब घटना के 7वें दिन पीड़ित का मेडिकल कराया गया। अब तक इस घटना में किसी को भी गिरफ्तार नहीं किया गया है।

पीड़ित का आरोप है कि उसे सड़क पर सरेआम निर्वस्त्र कर पीटा गया। इतना ही नहीं हैवानों ने उसके प्राईवेट पार्टस में बंदूक की नली और लकड़ी से भी वार किया। रेप के 7 दिनों बाद भी पुलिस ने पीड़ित का मेडिकल तक नहीं कराया अपराधियों को पकड़ने की बात तो दूर है और अब आईबीएन7 पर खबर दिखाए जाने के बाद पीड़ित को इंसाफ दिलाने की बजाय मामले की लीपापोती करने की कवायद शुरू हो गई है।

बिहार पुलिस का कहना है कि ये मामला रेप का नहीं बल्कि रेप की कोशिश का है। वहीं इस बाबत जब आईबीएन7 ने सीएम नीतीश कुमार और बिहार पुलिस के आला अधिकारी से बात करनी चाही तो उनके पास समय नहीं था। अब विपक्ष इस मामले में नीतीश सरकार को घेरने की कोशिश में जुट गया है। बीजेपी नेता सुशील मोदी ने कहा कि पार्टी इस मुद्दे को विधानसभा में उठाएगी।बिहार के मोतीहारी में कुछ दबंगों ने  लड़की को घर से बाहर खींचकर बीच सड़क पर उसके साथ रेप किया। ये मामला 13 जून का है।  इतना ही नहीं हैवानों ने लड़की के निजी अंग में बंदूक की नली और लकड़ी तक डाल दी। इसके बाद बड़े आराम से वो सभी दबंग वहां से फरार हो गए और लड़की बुरी तरह से घायल अवस्था में सड़क पर तड़पती रही। दरअसल आरोपी ने 13 जून को पहले भी लड़की के साथ बलात्कार किया था। जब इसकी शिकायत लेकर पीड़ित के परिवार वाले आरोपी के घर पहुंचे तो उन लोगों ने जान से मारने की धमकी देकर पीड़ित परिवार को भगा दिया।

इसके कुछ दिनों बाद आरोपी और उसके साथियों ने लड़की को हथियार के बल पर घर से उठाया और बीच सड़क पर उसके साथ फिर बलात्कार किया। इस मामले में पुलिस की लापरवाही भी साफ देखने को मिली जब घटना के 7वें दिन पीड़ित का मेडिकल कराया गया। अब तक इस घटना में किसी को भी गिरफ्तार नहीं किया गया है। इस पुरे प्रकरण में आखिर किसके दबाव पर पुलिस मामले कि लीपापोती करने में जुटी है यह प्रश्न भी खड़ा है .

biharrape1

LEAVE A REPLY