कुल्लू में रीवर राफ्टिंग पर 2 जुलाई से लगाया गया प्रतिबंध-
पर्यटकों की सुरक्षा को देखते हुए उपायुक्त ने दिए निर्देश-
राजीव कुल्लू ब्यूरो-
उपायुक्त हंसराज चैहान ने बरसात सीजन के चलते ब्यास सहित जिले की सभी नदियों में बढ़ते जलस्तर और पर्यटकों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए रिवर राफ्टिंग गतिविधियों पर पर प्रतिबंध लगा दिया है। उपायुक्त की ओर से इस संबंध में आज जारी आदेशों में कहा गया है कि घाटी में रिवर राफिटंग पर 3 जुलाई से पूरी तरह प्रतिबंध रहेगा। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को इस पर कड़ी नजर रखने के भी निर्देश दिए हैं।    उपायुक्त ने जिला में कार्यरत सभी रीवर राफ्टिंग आॅप्रेटरों से अपील की है कि इन आदेशों की अनुपालना सुनिश्चित करें और किसी प्रकार के भी नदी नालों में साहसिक गतिविधयों को न करवाएं। उन्होंने कहा कि यदि कोई आॅप्रेटर इस प्रकार की गतिविधियों में संलिप्त होता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। उपायुक्त ने स्थानीय लोगों को भी नदियों के नजदीक न जाने की सलाह दी है। ब्यास  के किनारों पर बसे लोगों को भी चेताते हुए कहा कि वे अपने स्थानों को खाली कर दें,ताकि जल स्तर बढ़ने पर किसी भी तरह का नुकसान न हो। उपायुक्त ने अधिकारियों को भी निर्देश दिए कि है समय रहते झुग्गी-झोंपड़ी वालों को भी नदी-नालों के किनारों से बस्ती खाली करवाएं। चैनल से साँझा करते हुए कहा कि आपदा से निपटने के लिए हमने कंट्रोल रूम स्थापित कर दिया है साथ ही सभी तरफ सुचना दे दी गयी है।

LEAVE A REPLY