बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष माझी पल्टी मार सकते है. ऐसा हम कोई अंदाजा नहीं लगा रहे बल्कि मांझी ने खुद कहा है कि नीतीश हमारे राजनीतिक जन्मदाता है. उन्होंने मुझे मौका दिया है और जब नीतीश-लालू एक हों सकते है तो नीतीश के साथ मेरी दुरी उतनी नहीं है. हम क्यों नहीं साथ आ सकते है. अब साफ़ है कि माझी बीजेपी को छोड़ने का प्लान कर रहे है.. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार कहते थे कि राजनीति से संन्यास ले लेंगे लेकिन लालू यादव के साथ नहीं जाएंगे लेकिन आज वे दोनों साथ हैं. उन्होंने कहा कि जिस तरह से लालू और नीतीश के बीच मतभेद रहा है, उतना तो उनकी लालू और नीतीश से कभी नहीं रहा. मांझी यही नही रुके उन्होंने साफ कहा कि वो आज जो भी हैं वो नीतीश के कारण ही हैं और यह उनकी महानता है.  मैं समझ चूका था कि मेरी यात्रा मंत्री और विधायक तक ही सीमित रहेगी. मांझी ने कहा कि नीतीश मेरे राजनीतिक जन्मदाता हैं. राजनीति में मंत्री से मुख्यमंत्री बनाने वाले नीतीश जी ही हैं. इस बात को मेरे परिवार के लोग भी बखूबी मानते हैं. पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा कि नीतीश ने मेरी बेइजज्जी की थी. नीतीश ने कहा था कि मांझी को मुख्यमंत्री बनाकर बहुत बड़ी भूल की है. इस बात से वो नाराज थे. अगर आज वो अपना बयान वापस ले लेते है तो मैं उनके साथ हूं.

 

 

 manjhi (1)

LEAVE A REPLY