सीवान जिले के आंदर प्रभारी के इंस्पेक्टर हनुमान राम को मंगलवार की शाम विजिलेंस की टीम ने 50 हजार रुपये घूस लेते गिरफ्तार कर लिया। इंस्पेक्टर की गिरफ्तारी आंदर स्थित उनके सरकारी आवास से हुई।
विजिलेंस की टीम ने डीएसपी तारिणी प्रसाद यादव के नेतृत्व में सरकारी आवास पर 15 मिनट तक छापेमारी की। इस दौरान उनके आवास से ढाई लाख रुपये बरामद हुए। टीम ने सरकारी आवास से कई कागजात को जब्त किया। गिरफ्तारी के बाद टीम इंस्पेक्टर को अपने साथ लेकर चली गई।
आरोपित का नाम और धारा हटाने के लिए मांगे थे पैसे
असांव थाना कांड संख्या 64/16 के सुपरविजन में आरोपित का नाम व धारा हटाने के लिए इंस्पेक्टर ने संपत भगत से 50 हजार रुपए की मांग की थी। संपत मारपीट के एक मामले में आरोपित था। घूस मांगने पर संपत ने इसकी शिकायत निगरानी विभाग से की। निगरानी ने गिरफ्तारी के लिए जाल बिछाया। मंगलवार को घूस देने की तिथि तय हुई। जैसे ही अपने सरकारी आवास पर इंस्पेक्टर ने संपत भगत से घूस की रकम ली, विजलेंस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। एसपी सौरभ कुमार साह ने बताया कि विजिलेंस की टीम ने इंस्पेक्टर को गिरफ्तार किया है।
वशिष्ठ ने दर्ज कराई थी एफआईआर
असांव थाने के ससरांव गांव के वशिष्ठ पांडेय ने असांव थाने में कांड संख्या 64 /16 दर्ज कराई थी। इसमें गांव के कई लोगों पर मारपीट करने व अपहरण करने का आरोप लगाया था। इसी मामले में लूट की धारा हटाने व कुछ आरोपितों का नाम हटाने के लिए इंस्पेक्टर ने रुपये की मांग की थी। बिना रुपये लिये इंस्पेक्टर ने संपत भगत की मदद करने से इंकार कर दिया था। इसके बाद संपत ने विजिलेंस पटना से इसकी शिकायत की थी।

images

LEAVE A REPLY