हिमाचल प्रदेश :धर्मशाला में मनाया गया नेल्सन मंडेला दिवस
हिमाचल प्रदेश :धर्मशाला में मनाया गया नेल्सन मंडेला दिवस
हिमाचल प्रदेश :धर्मशाला में मनाया गया नेल्सन मंडेला दिवस
हिमाचल प्रदेश :धर्मशाला में मनाया गया नेल्सन मंडेला दिवस

धर्मशाला, 18 जुलाई: नेल्सन मंडेला दिवस के उपलक्ष्य पर आज जिला एवं मुक्त कारागार धर्मशाला में विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में उपायुक्त कांगड़ा रितेश चौहान ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। दक्षिण अफ्रीका के महात्मा गांधी कहे जाने वाले नेल्सन मंडेला के जन्म दिवस को अंतर्राष्ट्रीय तौर पर कैदियों के कल्याण दिवस के रूप में मनाया जाता है तथा यह कारागारों एवं कारागार सुधारों पर केन्द्रित है।
उपायुक्त ने अपने संबोधन में कहा कि नेल्सन मंडेला सम्पूर्ण मानव जाति के लिए प्रेरणा स्त्रोत हैं, जिन्होंने रंगभेद और नस्लवाद के खिलाफ अहिंसा के पथ पर चलते हुए संघर्ष किया तथा इस अमानवीय अंधेरे को दूर कर लोगों के जीवन में समानता एवं सदभाव का प्रकाश किया। उन्होंने कहा कि रंगभेद विरोधी संघर्ष के कारण मंडेला ने लगभग 3 दशक जेल में बिताए, लेकिन कभी स्वतंत्रता, न्याय और लोकतंत्र के प्रति अपने उत्साह व विश्वास तथा इनकी प्राप्ति के लिए संघर्ष का त्याग नहीं किया।
चौहान ने बताया कि मंडेला दक्षिण अफ्रीका के पहले अश्वेत राष्ट्रपति बने थे। जिला एवं मुक्त कारागार की ऐतिहासिकता पर प्रकाश डालते हुए उपायुक्त ने कहा कि भारतीय स्वतंत्रता संघर्ष के महान् सेनानी लाला लाजपत राय भी देश की स्वतंत्रता के लिए जिला संयुक्त कारागार धर्मशाला में रहे थे। उन्होंने कहा कि वह कमरा आज भी वैसा सुसज्जित रखा गया है। उन्होंने कहा कि जेल बंदियों को जीवन में सकारात्मक परिवर्तन एवं सुधार के लिए प्रयासरत रहने का सुझाव दिया।
उपायुक्त ने जेल बंदियों के कल्याण के दृष्टिगत प्रभावी प्रयास करने एवं सुधारात्मक कदमों के लिए जेल प्रशासन की सराहना की।
इससे पूर्व, चौहान ने जेल परिसर का निरीक्षण किया तथा वहां बैरकों की साफ-सफाई तथा स्वच्छता व्यवस्था पर प्रसन्नता व्यक्त की। इस दौरान उन्होंने जेल बंदियों से बातचीत की और कारागार सुधार को लेकर उनके सुझाव एवं मांगों को ध्यानपूर्वक सुना।
इस अवसर पर जेल अधीक्षक सुशील कुमार ठाकुर ने मुख्यातिथि का स्वागत किया। उन्होंने उपायुक्त को कारागार सुधार को लेकर प्रशासन द्वारा उठाए गए कदमों से अवगत करवाया। उन्होंने जेल सुधार की विभिन्न गतिविधियों में आर्ट ऑफ लिविंग, उद्यान् विभाग, पंतजलि योग समिति, श्री सत्य सांई समिति तथा लॉयन्स क्लब धर्मशाला के विशेष सहयोग के लिए आभार जताया। उन्होंने बताया कि पंतजलि तथा आर्ट ऑफ लिविंग का बंदियों को तनाव मुक्त करने के लिए विशेष सहयोग रहता है।
इस दौरान सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग की नाट्य इकाई धर्मशाला के कलाकारों द्वारा तथा जेल बंदियों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए गए।
इस अवसर पर उपायुक्त ने प्रजापति ब्रहा्रकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय, आर्ट ऑफ लिविंग, बागवानी, पंतजलि योग समिति, श्री सत्य सांई समिति तथा लॉयन्स क्लब धर्मशाला के प्रतिनिधियों को जिला एवं मुक्त कारागार धर्मशाला में कैदियों के कल्याण की गतिविधियों में सहयोग के लिए सम्मानित किया।
इसके अतिरिक्त, उपायुक्त ने खेलों तथा उत्कृष्ट कार्य करने वाले बंदियों को भी सम्मानित किया।
इस अवसर पर उप-अधीक्षक जेल मस्तराम राणा, विभाग के अन्य अधिकारी एवं विभिन्न गैर सरकारी संगठनों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY