अधिकारी लक्ष्य निर्धारित कर मिशन मोड में जमाबंदियों की अपडेशन सुनिश्चित करेंः-डीसी

बिलासपुर 19 जुलाईः- भू राजस्व मामलों की प्रगति से सम्बंधित त्रैमासिक समीक्षा बैठक आज बचत भवन में उपायुक्त ऋग्वेद मिलिंद ठाकुर की अध्यक्षता में आयोजित की गई जिसमें जिला के तमाम राजस्व अधिकारियों ने भाग लिया। उपायुक्त ने बैठक में उपस्थित सभी राजस्व अधिकारियों का आहवान किया कि वे इंतकाल, निशानदेही ,तकसीम प्रकरण ,कब्जा नाजायज , खानगी तकसीम, दरूस्ती इंद्राज, वारंट बेदखली तथा तकाबी ऋण वसूली के मामलों में तेजी लाकर इन्हें निर्धारित अवधि में पूरा करें।
उपायुक्त ने तकाबी ऋण वसूली के मामलों में अध्ेिाकारियों को अतिरिक्त प्रयास करने को कहा ताकि वसूली को पूर्ण कर इसे समाप्त किया जा सके। लंबित पड़े आडिट पैरों पर चर्चा करते हुए उपायुक्त ने कहा कि सभी अधिकारी लंबित पड़े आडिट पैरों की प्रकृति तथा वास्तविक स्थिति की विस्तृत रिपोर्ट आगामी बैठक में प्रस्तुत करें तथा इनका निर्धारित अवधि में समायोजन करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी रेवेन्यू कोर्ट मानीटरिंग सिस्टम के तहत कोर्ट से सम्बंधित जजमैंटस की पूर्णतया अपलोडिंग को सुनिश्चत बनाएं तथा इस बारे में यदि कोई अड़चन हो तो जिला राजस्व अधिकारी से सम्पर्क करें। उन्होंने कहा कि आवश्यकतानुसार तहसीलदार अपने-2 कार्यालय से किसी एक कर्मचारी को इसके लिए प्रशिक्षण हेतू जिला राजस्व कार्यालय बिलासपुर में भेजें ताकि इस कार्य को गति प्रदान की जा सके। उन्होंने एसडीएम घुमारवीं को इस कार्य को गति प्रदान करने के लिए स्वयं मानीटरिंग करने को कहा।
उन्होंने कहा कि कुछ अधिकारी फालस रिपोर्टिंग कर रहे हैं जिससे रिकार्ड के साथ भेजी गई रिपोर्टों का सही मिलान नहीं होता है। उन्होंने कहा कि वे कुछ दिनों में स्वयं तहसील कार्यालयों का निरीक्षण करेंगे। उन्होंने सम्बंधित तहसीलदारों को निर्देश दिए कि वे ऐसे मामलों का विस्तार से मानीटरिंग करें तथा सही रिपोर्ट भेजना सुनिश्चित करें। उन्होंने वारंट बेदखली के मामलों में की गई प्रगति पर भेी चिंता व्यक्त की तथा एसडीएम घुमारवीं को निर्देश दिए कि वे इन मामलों को व्यक्तिगगत रूप से मानीटर करें।
उपायुक्त ने सभी राजस्व अधिकारियों को जमाबंदियों के कार्य को शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिए ताकि इसे आनलाईन किया जा सके। उन्होंने कहा कि इसके लिए अधिकारी रणनीति बनाकर निर्धारित अवधि में इसकी अपडेशन सुनिश्चित करें। उन्होंने सभी तहसीलदार/नायब तहसीलदारों को अपने-अपने कार्यालय की सरकारी ई- मेल आईडी बनाएं तथा साप्ताहिक प्रगति रिपोर्ट भी ई-मेल के माध्यम से भेजना सुनिश्चित करें। विभागीय भवनों के निर्माण तथा मुरम्मत पर भी विस्तार से चर्चा की गई तथा सम्बंधित अधिकारियों को भवनों के निर्माण तथा मुरम्मत कार्य को शीघ्र पूरा कर उन्हें रिपोर्ट भेजने को कहा। उन्होंने सम्बधित तहसीलदारों को निर्देश दिए कि जिला में यदि कोई पटवारी विभागीय असुरक्षित भवनों में कार्य कर रहे हंै तो अन्य किसी भवन में उनकी व्यवस्था की जाए ताकि किसी प्रकार की अनहोनी घटना न हो।
उपायुक्त ने सभी राजस्व अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे लक्ष्य निर्धारित कर मिशन मोड में जमाबंदियों को अपडेट करवाना सुनिश्चित करें ताकि मुसावियों को शीघ्र आनलाईन किया जा सके। उन्होंने कहा कि जिला में मुसावियों की अपडेशन से सम्बंधित प्रतिशतता बहुत ही कम है जिसे अधिकारी अगले माह तक 30 प्रतिशत तक बढ़ाना सुनिश्चित करें।
इस अवसर पर अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी डा0 चांद प्रकाश शर्मा, एसडीएम घुमारवीं अदित्य नेगी, जिला राजस्व अधिकारी कविता ठाकुर, तहसीलदार सदर जीत राम भारद्वाज, तहसीलदार घुमारवीं ओ0पी0 शर्मा, तहसीलदार झंडूता देव राज शर्मा , तहसीलदार स्वारघाट जसपाल के अतिरिक्त नायब तहसीलदार तथा कानूनगो भी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY