हिमाचल प्रदेश: राशन दुकानों के किए गए 3237 निरीक्षणः एडीसी
हिमाचल प्रदेश: राशन दुकानों के किए गए 3237 निरीक्षणः एडीसी

धर्मशाला, 28 जुलाई – जिला नियंत्रक खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग द्वारा जिला स्तरीय सतर्कता समिति की बैठक का आयोजन किया गया, जिसकी अध्यक्षता अतिरिक्त उपायुक्त राकेश शर्मा ने की। उन्होंने बताया कि जिला में कुल 4,30,060 राशन कार्ड धारक है। जिसमें से 2,57,915 एपीएल, 67319 बीपीएल, 43125 अन्तोदय, 61701 प्राथमिक गृहस्थी तथा अन्नपूर्णा के 435 राशन कार्ड है जबकि जिला में 1052 उचित मूल्य की दुकानों के माध्यम से उपभोक्ताओं को खाद्यान्न उपलब्ध करवाया जाता है।
राकेश शर्मा ने बताया कि जून, 2016 तक लगभग 38002 क्विंटल गन्दम व 32044 क्विंटल चावल का बैकलॉग हो चुका है तथा जिला में जिला नियंत्रक खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले कांगड़ा स्थित धर्मशाला को जिला शिकायत निवारण अधिकारी नियुक्त किया गया है, जो कि लाभार्थियों के एनएफएसए के तहत खाद्यान्न न मिलने या डिपो होल्डर द्वारा खाद्यान्नों के दुरूपयोग के संबंध प्राप्त होने वाली शिकायतों का निपटारा करेंगे।
उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के अंतर्गत खाद्यान्नों के अपयोजन को रोकने के लिए विभाग द्वारा जनवरी से जून, 2016 तक कुल 3237 निरीक्षण किए गए, जिनमें 382 थोक गोदाम उचित मूल्य की दुकानें शामिल हैं। उन्होंने बताया कि खाद्यान्न की गुणवता हेतु जनवरी से जून, 2016 तक कुल 76 नमूने खाद्यान्नों के विभिन्न थोक गोदामों, आटा मिलों, उचित मूल्य की दुकानों से लिए गए, जिनमें से दस नमूनें गुणवता के अनुरूप नहीं पाए जाने पर 17000 रूपये जुर्माना किया गया, इस प्रकार विभिन्न अनियमिताएं पाए जाने पर 3,31,590 रूपये जुर्माना किया गया।
राकेश शर्मा ने बताया कि खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के अंतर्गत गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान तथा शिशु के जन्म के छः माह तक आंगनबाड़ी के माध्यम से मुफ्त भोजन प्रदान किया जाता है जबकि आठवीं कक्षा तक के बच्चों के मध्याहन भोजन के लिए भी खाद्यान्न उपलब्ध करवाया जाता है।
इस बैठक में, जिला नियंत्रक खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले राजीव शर्मा के अतिरिक्त अन्य विभागों के अधिकारी सहित ग्राम पंचायत बालुगलोआ की प्रधान कमलेश कुमारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY