बाढ की चपेट मे गोपालगंज के दियारावासियोTMPDOODLE1469847567398 की जिन्दगी , अब प्रशासनिक सहायता की आस

बुद्धेश्वर कुमार शुक्ल : सुनामी मिडीया, कुचायकोट / गोपालगंज

नेपाल मे हो रही लगातार बारिश और वाल्मीकिनगर बराज से अधिक मात्रा मे पानी छोडे जाने के कारण गंडक नदी के द्वारा तबाही मचाये जाने से गोपालगंज जिले के कुचायकोट प्रखंड अन्तर्गत विभिन्न गावों को नदी ने अपने आगोश मे ले लिया है ।आज सुनामी मिडीया टीम ने बाढ ग्रसित इलाके मे जाकर वहां के लोगों का दर्द समझना चाहा तो मानसिक रूप से परेशान कर देने वाले हालात सामने आये ।कुचायकोट के सिपाया ढाला से रूपनछाप जाने वाली सडक पर पानी आ जाने से रूपनछाप गांव का सम्पर्क टुट गया है ।गांव मे अभी भी बहुत सारे लोग अपने घरों मे फंसे हुए है ।अब उन्हे निकालने के लिए केवल नाव का ही सहारा लिया जा रहा है ।वही हाल सिपाया से दुर्ग मटिहिनिया, खेम मटिहिनिया, काला मटिहिनिया, धुपसागर जाने वाले रास्ते काल है।सिपाया ढाला से इस रास्ते मे 100 मीटर के बाद पानी सडक पर बह रहा है ।और इन गावों के कुछ लोग सुरक्षित जगहों पर पहुंच गये है ।बाकी लोगों को बाहर निकालने के लिए एन डी आर एफ की टीम और स्थानीय ग्रामीण काफी मशक्कत कर रहे है ।
*******राजकीय पालिटेक्निक कालेज सिपाया,गोपालगंज के परिसर मे 3-4 फुट पानी प्रवेश कर गया है और आस पास के इलाके भी पुरी तरह से जलमग्न हो गये है ।प्रशासनिक स्तर डी एम राहुल कुमार ने बाढ ग्रसित इलाके का दौरा किया और अधिकारीयों को हरदम एलर्ट पर रहने के निर्देश दिए ।अधिकारी मौके पर कैम्प कर रहे है और पिडीतों को हर आवश्यक समान मुहैया कराने की कोशिश कर रहे है

LEAVE A REPLY