ज्योतिष विज्ञान भारत की समृद्ध संस्कृति की विरासत: कौल सिंह ठाकुर

धर्मशाला, 31 जुलाईः स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, राजस्व तथा विधि मंत्री कौल सिंह ठाकुर ने कहा कि ज्योतिष विज्ञान भारत की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत है तथा इसके प्रचार-प्रसार से भारत विश्व को ज्ञान का रास्ता दिखा सकता है। उन्होंने कहा कि एक विषय के रूप मंे ज्योतिष में ज्ञान अर्जन की असीम संभावनाएं हैं। वे आज धर्मशाला में अखिल भारतीय सरस्वती ज्योतिष मंच द्वारा तीन दिवसीय 57वें राष्ट्रीय ज्योतिष सम्मेलन के समापन समारोह में बतौर मुख्याातिथि बोल रहे थे।
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य के शिक्षण संस्थानों में संस्कृत और ज्योतिष विषयों के पठन-पाठन को बढ़ावा दे रही है।
इससे पूर्व, कौल सिंह ठाकुर ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का विधिवत शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि खगोल शास्त्र और ज्योतिष शास्त्र के ज्ञान के प्रसार एवं विकास से विश्व को ज्ञान का रास्ता दिखाने में भारतीय ऋषि परम्परा की महान् विभूतियों ने अमूल्य योगदान दिया है। उन्होंने कहा कि ज्योतिष जीवन के मार्गदर्शन का विज्ञान है।
इस दौरान अक्षय कुमार ने मुख्यातिथि का तथा वहां आए सभी विद्वानों का स्वागत किया। उन्होंने ज्योतिष विद्या के बारे में विस्तार से अपने विचार व्यक्त किए।
इस अवसर पर महापौर रजनी देवी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी आरएस राणा सहित बड़ी संख्या में ज्योतिष के विद्वान तथा विदुषियां उपस्थित थे।

हिमाचल प्रदेश : ज्योतिष विज्ञान भारत की समृद्ध संस्कृति की विरासत: कौल सिंह ठाकुर
हिमाचल प्रदेश : ज्योतिष विज्ञान भारत की समृद्ध संस्कृति की विरासत: कौल सिंह ठाकुर

LEAVE A REPLY