हिमाचल हाई कोर्ट ने रद्द किया केस ,बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग को मिली राहत

शिमला :हिमाचल हाई कोर्ट ने बीसिसिआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर के खिलाफ दर्ज केस ख़ारिज कर दिया है. ८ अप्रैल २०१४ को धर्मशाला क्रिकेट स्टेडियम बनाने के लिए शिक्षा विभाग कि ज़मींन पर अतिक्रमण करने के आरोप में केस दर्ज किया गया था. न्यायधीश राजीव शर्मा ने धर्मशाला कोर्ट में लगाये गये आपराधिक मामले को भी ख़ारिज कर दिया है.
न्यायधीश राजीव शर्मा ने एचपीसीए और अनुराग ठाकुर कि ओर से दायर याचिका को स्वीकार करते हुए यह फेसला सुनाया कि यह प्रतीत नही है कि अपराध भारतीय दंड सहिता कि धारा ४४१ के तहत किया हुआ है.
याचिका में कहा गया था कि प्रदेश सरकार राजनेतक द्वेष के चलते एचपीसीए पर तरह-तरह के मामले दर्ज़ कराए गये हैं. कांग्रेस चार्ज्शीट के दवाब में आकर १९४१ वर्ग मीटर भूमि पर अवेध कब्जा करने का झूठा मामला बनाया गया है. हालाँकि ४९११८ मीटर भूमि लीज़ पर दी है और उनका कब्जा केवल ४५९५९ वर्ग मीटर पर ही है. यदि देखा जाए तो एचपीसीए के पास अभी भी ३१५८ वर्ग मीटर भूमि आवंटित भूमि से कम है. उनका कहना है कि यह गलती सरकार द्वारा हुई है इसलिए यह मामला अवेध कब्जे का नही बल्कि गलती का मामला है, जिसे सुधारा जा सकता है.

हिमाचल हाई कोर्ट ने रद्द किया केस ,बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग को मिली राहत
हिमाचल हाई कोर्ट ने रद्द किया केस ,बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग को मिली राहत

LEAVE A REPLY